प्राप्त पत्रों एवं उसके निष्पादन की साप्ताहिक समीक्षा करे : डीएम बेगूसराय

DM Begusarai

बेगूसराय : जिलास्तरीय कार्य-संस्कृति की बैठक में डीएम अरविन्द कुमार वर्मा ने कार्यालयों में आने वाले सभी पत्रों की महत्ता के अनुरूप चिन्हित कर प्राथमिकता के आधार पर निष्पादित करने का निर्देश दिया है। जिला स्तरीय कार्यालयों से संबद्ध महत्वपूर्ण पत्रों, न्यायालय से संबंधित मामलों, विभिन्न विभागों से जुड़ें परिवादों के त्वरित निष्पादन संबंधी मामलों की समीक्षा के उद्देश्य से आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए डीएम ने कहा कि कार्यालयों में आने वाले सभी पत्र महत्वपूर्ण हैं।

लेकिन, पत्रों की महत्ता के अनुरूप उसे चिन्हित कर प्राथमिकता के आधार पर निष्पादित किया जाना आवश्यक है। इसके लिए जरूरी है कि साप्ताहिक आधार पर सभी कार्यालय प्रधान प्राप्त पत्रों एवं उसके निष्पादन की समीक्षा करें। डीएम ने स्थापना उप समाहर्ता को प्रति माह प्रधान सहायकों की बैठक आयोजित करने का निर्देश देते हुए कहा कि कार्यालयों में कार्य निष्पादन की बेहतर संस्कृति बनी रहे इसके लिए नियमित स्तर पर समीक्षा आवश्यक है। उन्होंने सुओ-मोटो के आधार पर स्मार-पत्र भेजने का भी निर्देश दिया।

बैठक के दौरान सभी कार्यालय प्रधान को कार्यालय के प्रभावी अनुश्रवण कर कार्य-संस्कृति में सुधार लाने का निर्देश दिया गया है। इस दौरान विभिन्न 84 कार्यालयों में वर्तमान में 962 लंबित महत्वपूर्ण पत्रों के निष्पादन की समीक्षा करते हुए तुरंत निष्पादित करने का निर्देश दिया गया। इससे पूर्व बताया गया कि माह दिसंबर तक कुल 673 पत्र कार्रवाई के लिए लंबित था, विगत एक माह में 7107 पत्र प्राप्त हुए, कुल 7780 पत्रों में से 6618 पत्रों का निष्पादन किया जा चुका है।

बैठक के दौरान विशेष तौर पर शिक्षा विभाग, पंचायती राज, राजस्व शाखा, स्थापना शाखा, आपदा शाखा, सामान्य शाखा को महत्वपूर्ण पत्रों के निष्पादन का निर्देश दिया गया। इसी क्रम में बखरी कब्रिस्तान संबंधी मामले, चाईल्ड लाइन, एनसीपीसीआर एवं चाईल्ड लाइन संबंधी, वन-स्टॉप सेंटर, मानव तस्करी, खेल भवन-सह-व्यायामशाला, कला-संस्कृति भवन, स्टेडियम निर्माण, विभिन्न भवनों के लिए भूमि की उपलब्धता आदि से संबद्ध पत्रों के साथ-साथ विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन से जुड़े पत्रों के त्वरित गति से निष्पादित करने का निर्देश दिया गया। वहीं, न्यायालय, मानवाधिकार एवं लोकायुक्त से संबंधित लंबित पत्रों को भी अविलंब निष्पादित करने का निर्देश दिया गया है।

You cannot copy content of this page