बेगूसराय में BJP के रजनीश कुमार को कांग्रेस के राजीव ने हराया, हार की वजह ‘भितरघात’ को लेकर सुर्खियों में..

Begusarai MLC RAJiv Kumar

डेस्क : बिहार विधान परिषद के स्थानीय प्राधिकार की 24 सीटों के चुनाव की मतगणना संपन्न हो गई। जिसमे बेगूसराय-खगड़िया विधान परिषद से कांग्रेस उम्मीदवार राजीव कुमार ने जीत दर्ज कर ली है। इस बीच NDA के प्रत्याशी हारने के बीच सोशल मीडिया पर एक फोटो तेजी से वायरल हो रही है। जिसमे कांग्रेसी उम्मीदवार राजीव कुमार के भाई जदयू विधायक संजीव कुमार, बीजेपी विधायक कुन्दन कुमार, जदयू विधायक राजकुमार, भाजपा विधायक सुरेंद्र मेहता एक साथ दिखे रहे हैं। बताया जाता है कि NDA में जमकर भितरघात हुआ है।

जानकारी के लिए आपको बता दें जदयू विधायक संजीव कुमार के भाई राजीव कुमार कांग्रेस उम्मीदवार थे। संजीव कुमार ने बिहार विधान परिषद चुनाव में खुलकर अपने भाई राजीव के पक्ष में जमकर प्रचार किया था। अब NDA उम्मीदवार रजनीश कुमार की हार हुई तो भितरघात को लेकर सवाल उठने लगे हैं। वही, राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि लोकसभा चुनाव के दौरान केंद्रीय मंत्री सह सांसद गिरिराज सिंह को जब बीजेपी का उम्मीदवार बेगूसराय सीट से घोषित किया गया था, उस समय रजनीश कुमार की ओर से भितरघात करने की बात कही गई थी। अब रजनीश कुमार को जब एनडीए ने विधान परिषद चुनाव को लेकर बेगूसराय खगड़िया से उम्मीदवार बनाया तो रजनीश कुमार को भी भितरघात का सामना करना पड़ा। मालूम हो की रजनीश कुमार सुशील मोदी के काफी करीबी माने जाते हैं।

ऐसे में रजनीश कुमार की बेगूसराय से हार बिहार भाजपा में सुशील मोदी युग के अंत का संकेत माना जा सकता है। अमित शाह जब बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे तो उनके कार्यकाल में रजनीश कुमार राष्ट्रीय सचिव भी बने थे। लेकिन एनडीए के भितरघात रजनीश कुमार के हार का कारण माना जा सकता है।

ये भी पढ़ें   सावन के अंतिम सोमवारी को बनखंडी स्थान में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़...