ऑटो- टैक्सी का किराया हुआ महंगा – 100 रुपए तक बढ़ा भड़ा, जानें – नया रेट..

Auto fare

डेस्क : जुलाई आने के साथ न केवल घर चलाना बल्कि स्थानीय यात्रा करना और भी महंगा हो गया है। ऑटो टैक्सी यूनियन की बात है कि सीएनजी की कीमतों में लगातार वृद्धि से टैक्सी चालक प्रभावित हो रहे हैं। इससे किराये की दरें अधिक हो गई हैं। कुछ रूटों पर इसमें 1.50 रुपये प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी की गई है। वहीं, कुछ पर डायरेक्ट लंपसम बढ़ाए गए हैं। यात्रियों और ऑटो टैक्सी चालकों के बीच भी झड़पें होती हैं। क्योंकि अचानक हुए किराए में बढ़ोतरी के बारे में ज्यादा लोगों को पता नहीं है।

किराया 11 रुपये प्रति किमी : दिल्ली में लगभग 97,000 ऑटो चालकों ने किराया वृद्धि से राहत की सांस ली है। लेकिन सबसे ज्यादा नुकसान निम्न और मध्यम वर्ग के सवारों को होगा। दिल्ली एनसीआर में एक बड़ा वर्ग ऑटो और टैक्सियों पर निर्भर है। अब ऐसे लोगों को ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी। अब तक जब हम ऑटो में बैठते थे तो मीटर गिरते ही 1.5 किमी की दूरी तय करनी पड़ती थी। इसके लिए 25 रुपये देने पड़े थे, अब यह किराया रुपये है इसके अलावा, आपसे 9.5 रुपये प्रति किमी का शुल्क लिया गया था, जो अब रुपये लिया जाएगा

टैक्सियों के लिए यह दर : ऑटो के लिए बेस फेयर में जहां 5 रुपये की बढ़ोतरी की गई है, वहीं टैक्सियों के लिए आपको 15 रुपये और चुकाने होंगे। नियम के मुताबिक 25 रुपये की जगह टैक्सी में चढ़ते ही 40 रुपये देने होंगे। साथ ही बेसफेयर के बाद नॉन-एसी टैक्सियों का किराया प्रति किलोमीटर 14 रुपये के बजाय 17 रुपये होगा। एसी टैक्सियों का किराया 16 रुपये के बजाय 20 रुपये होगा। इससे यात्रियों की जेब पर एक और बोझ पड़ेगा… . आपको बता दें कि यह किराया 2 साल में बढ़ाया गया है। इससे पहले ऑटो टैक्सी के किराए में बढ़ोतरी की गई थी

ये भी पढ़ें   गाड़ी चालक खुश हो जाए! अब सड़कों पर से हट जाएंगे टोल प्लाजा, Nitin Gadkari ने किया बड़ा ऐलान..