21 सूत्री मांग को लेकर जिला समाहरणालय पर किसानों का महा धरना

Dharna

तेघरा (बेगूसराय) किसान मांग दिवस सप्ताह में 21 सूत्री मांगों को लेकर बेगूसराय जिला समाहर्ता के समक्ष आयोजित महा धरना में शामिल किसानों एवं पैक्स अध्यक्षों को संबोधित करते हुए बिहार राज्य किसान सभा के महासचिव अशोक प्रसाद सिंह ने कहा कि खाद की कालाबाजारी के कारण बाजार से यूरिया गायब है। जिला प्रशासन अविलंब ठोस कार्रवाई नहीं की तो जिले में रबी की बुवाई पर आसन्न खतरा विराजमान हो जाएगी।

इसलिए जिला प्रशासन को आगाह करने आज किसान जिला समाहरणालय आए हैं कि जिले में एक ओर बाढ का भयानक तांडव है, तो दूसरी ओर सूखा से त्राहिमाम मचा है। इसलिए बेगूसराय को अकाल क्षेत्र घोषित किया जाए। उन्होंने कहा की जिला के सबसे बड़े भ्रष्टतम जिला सहकारिता पदाधिकारी सह प्रबंध निदेशक कॉपरेटिव बैंक बेगूसराय जो जिला के पैक्स अध्यक्षों को नक्सली कहता है और अपने पास पिस्तौल रखने तथा चलाने की धमकी लोगों को देता है।

ऐसे पदाधिकारी को बेगूसराय की जनता कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। धान अधिप्राप्ति में लिए गए घूस की मोटी काली कमाई से एक हिस्सा देकर बिहार के रजिस्ट्रार को खरीद कर पुनः बेगूसराय की छाती पर वह बैठना चाहता है। जिसे बेगूसराय की जनता कतई कबूल नहीं करेगी। इसलिए उसे अविलंब बर्खास्त किया जाए। वरना दिल्ली की तरह बेगूसराय कॉपरेटिव बैंक पर लगातार संघर्ष चलाने के लिए पैक्स अध्यक्ष और किसान मजबूर होंगे।

उन्होंने कहा कि विगत 7 वर्षों से केंद्र सरकार द्वारा देश के किसानों को ठगा गया। झूठा आश्वासन देकर कि 2022 में किसानों की आमदनी दोगुनी हो जाएगी। मगर हकीकत यह है कि खाद, बीज, कीटनाशक, डीजल, कृषि यंत्र आदि कृषि उपयोगी वस्तुओं की आसमान छूती कीमतें तथा कृषि पैदावार का लागत मूल्य भी किसानों को नहीं मिलने के कारण आज किसानों की आय दूनी होने के बदले आधी हो गई है।

ये भी पढ़ें   तेघड़ा एवं बरौनी नगर के प्रत्याशियों को मिल गया चुनाव चिन्ह

उन्हें इस अवसर पर केंद्र सरकार की वादाखिलाफी की जमकर घोर निंदा की और बिजली बिल संशोधन विधेयक 2022 को वापस लेने की सरकार से अपील की। यदि केंद्र सरकार किसानों से किए गए वादे जल्द पूरा नहीं की, तो देश में बड़े किसान आंदोलन पुन: छेड़ने की तैयारी के लिए मुहिम छेड़ने का आह्वान किया। इस अवसर पर आयोजित सभा की अध्यक्षता किसान सभा के जिला उपाध्यक्ष टुनटुन दास ने की।

सभा को किसान सभा के जिला सचिव अरविंद सिंह, किसान नेता दिनेश सिंह, कुमार गणेश शंकर सिंह, मनोज कुमार यादव, रामनरेश महतो, रामकुमार सिंह, आनंद प्रसाद सिंह, चंद्र भूषण सिंह, अनिल कुमार अंजान, गनी चौधरी, विद्यानंद राय ने संबोधित किया। इस अवसर पर अशोक प्रसाद सिंह, अरविंद सिंह, राम नरेश महतो, अवनीश कुमार, दिनेश सिंह, मनोज कुमार यादव एवं टुनटुन दास ने जिला समाहर्ता से मिलकर एक स्मार पत्र सौंपा। जिला समाहर्ता ने मांग पत्र से सहमति व्यक्त करते हुए उचित कार्रवाई का आश्वासन दियाl