रवि शास्त्री को लेकर दिनेश कार्तिक ने दिया बड़ा बयान बताया, किन खिलाड़ियों को नहीं पसंद करते थे कोच

Dinesh Karthik gave a big statement about Shastri

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने हाल ही में बड़ा बयान दिया है. उन्होंने बताया है कि पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री(Ravi Shastri) खिलाड़ियों को खास उपलब्धियां हासिल करने के लिए प्रेरित करते थे. लेकिन नाकामी नहीं बर्दाश्त करते थे. बता दें शास्त्री टीम इंडिया के सफलतम कोचों में से एक हैं. शास्त्री के कार्यकाल में भारतीय टीम ने दुनिया भर की टीमों को मात दी, लेकिन टीम कोई भी बड़े आईसीसी टूर्नामेंट जीतने में असफल रही.

कोहली और शास्त्री की होती थी आलोचना शास्त्री और विराट कोहली(Virat Kohli) के कार्यकाल में भारतीय क्रिकेट टीम ने कई मुकाम हासिल किए लेकिन अक्सर दोनों की खराब दौर से जूझ रहे खिलाड़ियों के साथ नहीं खड़े होने के लिए कड़ी आलोचना की जाती थी. कार्तिक ने क्रिकबज के कार्यक्रम में ‘समर स्टेलमेट’ कहा, “ उन्हें(शास्त्री) ऐसे लोग पसंद नहीं थे जो एक निश्चित तेजी से बल्लेबाजी नहीं कर पाते थे या नेट पर कुछ करते थे और मैच में कुछ और.”

इस बात को नापसंद करते थे शास्त्री दिनेश कार्तिक ने बताया कि पूर्व कोच को क्या पसंद नहीं था. उन्होंने कहा, “वह इसे पसंद नहीं करते थे.उन्हें पता था कि टीम से क्या चाहिए और टीम को कैसे खेलना है. वह नाकामी नहीं बर्दाश्त कर पाते थे. वह हमेशा सभी को अच्छा खेलने के लिए प्रेरित करते थे. दिनेश कार्तिक ने यह भी बताया कि वह रोहित शर्मा(Rohit Sharma) और राहुल द्रविड़(Rahul Dravid) के इस दौर में अधिक सुकून महसूस कर रहे हैं.

कोहली-शास्त्री की हिट जोड़ी शास्त्री के कोच रहते टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को उन्हीं के देश में हराकर पहली बार टेस्ट सीरीज जीती. शास्त्री के कार्यकाल में भारत ने दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज जीत हासिल की. कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली के कार्यकाल में भारतीय टीम 2016 से 2020 तक 42 महीनों के लिए टेस्ट में दुनिया की नंबर वन टीम बनी रही.

ये भी पढ़ें   पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी ने इस भारतीय गेंदबाज की फेरारी और लैंबोर्गिनी से की तुलना, बल्लेबाजों पर बरपाया है कहर