बेगूसराय के आरसीएस कॉलेज मंझौल के भूगोल विभागाध्यक्ष प्रो रविकांत आनंद की लिखी किताब होगी प्रकाशित

Ravi Kant Anand Book

न्यूज डेस्क : पर्यावरण की रक्षा किया जाना वैश्विक प्रतिबद्धता है। इसके लिए दुनिया भर के शोधकर्ताओं , वैज्ञानिकों, संस्थाओं की टीम लगातार लगी हुई रहती है। इसी कड़ी में बेगूसराय के आरसीएस कॉलेज मंझौल के विभागाध्यक्ष प्रो रविकांत आनंद के द्वारा लिखे गए किताब मध्य एशिया में पर्यावरणीय परिवर्तन, जबरन प्रवास और आंतरिक विस्थापन जल्द ही विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए प्रकाशित की जायेगी।

इसे दिल्ली के एक बुक पब्लिशर ने पब्लिश कराने की सारी तैयारियां पूरी कर ली है। लेखक के द्वारा जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में एमफिल के रिसर्च पेपर का सारांश के रूप में यह किताब है। कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ अवधेश सिंह , वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ नवीन कुमार सिंह , डॉ वंदना , राजेश कुमार समेत तमाम शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने इस उपलब्धि को कॉलेज के लिए गौरव की बात बताया है।

नीतिकारों को रणनीति तैयार करने में मिलेगा मदद : किताब प्रकाशित होने के सम्बंध में सम्बंध में प्रो रविकांत आनंद ने कहा कि यह पुस्तक मध्य एशियाई गणराज्यों के सामने आने वाले कुछ मुद्दों और विविध चुनौतियों का उल्लेख करती है। यह चिंता व्यक्त करने का प्रयास करता है, और मध्य एशिया में पर्यावरण परिवर्तन, जबरन प्रवास और आंतरिक विस्थापन के मुद्दों को सामने लाने का प्रयास करता है। इस पुस्तक को तीन मुख्य वर्गों में विभाजित किया गया है।

मध्य एशिया में पर्यावरण परिवर्तन, पर्यावरण परिवर्तन का सामाजिक-आर्थिक प्रभाव और पर्यावरण से प्रेरित जबरन प्रवास और आंतरिक विस्थापन की स्थिति सरकार और नागरिक समाज की प्रतिक्रिया। इस पुस्तक का मुख्य उद्देश्य पर्यावरण और प्रवास के बीच संबंधों पर मौजूदा अंतःविषय ज्ञान में अंतर को भरना है। जिससे योजनाकारों और निर्णय निर्माताओं को प्रासंगिक मुद्दों को संबोधित करने और विकास गतिविधियों के लिए उपयुक्त नीतियों और रणनीतियों को तैयार करने में मदद करेगा।

You cannot copy content of this page