May 19, 2022

5 सालो से योगी आदित्यनाथ नही मिले अपनी माँ से, परिवारवाद को हटाते हुए भाई-बहनो को कहा- खुद कमाओ, खुद खाओ

yogi adityanath up cm

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2017 के बाद साल 2022 में लगातार दूसरी बार ऐतिहासिक जीत दर्ज कर योगी ने अपने दूसरे युग की शुरुआत की है. योगी आदित्यनाथ को लेकर आम लोगों के मन में उनकी एक अलग छवि है. वह एक लोकप्रिय मुख्यमंत्री रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक शपथ ग्रहण के दौरान योगी आदित्यनाथ कई अहम मुद्दों पर बात करने वाले हैं. इस बीच यह भी पता चला कि वह करीब 5 साल से अपनी मां से नहीं मिले हैं।

उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल के पंचूर गांव में जन्मे आदित्यनाथ ने 18 साल की उम्र में उत्तरप्रदेश के गोरखपुर में साधु बनने के लिए अपना घर छोड़ दिया था। योगी ने जब घर छोड़ा तो यह भी नहीं बताया कि वह साधु बनने जा रहे हैं, उनकी 4 बहनो मे से एक बहन ने खास बातचीत में कहा। मुख्यमंत्री योगी की बहन शशि उत्तराखंड में अपने गांव के पास एक छोटी सी दुकान चलाती हैं। जब लोग उन्हें दुकान चलाते हुए देखते हैं, जबकि उनके भाई राज्य चलाते हैं, तो किसी के पूछने पर शशि ने कहा कि उनके परिवार को परिवारवाद (वंशवादी राजनीति) पसंद नहीं है।

उन्होंने कहा कि अन्य पार्टियों में, परिवार के सभी सदस्य राजनीति में शामिल होते हैं, लेकिन “यह हमारे परिवार में नहीं है …योगी खुद कहता है “खुद कमाओ ,खुद खाओ”.आपको बता दें, सीएम योगी के 4 भाई और उनकी 3 बहनें हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता का नाम आनंद सिंह बिष्ट है। योगी के बड़े भाई का नाम मानवेंद्र सिंह बिष्ट है। वह एक college में काम करते है। इसके बाद सीएम योगी का जन्म हुआ, जबकि उनके छोटे भाई का नाम महेंद्र सिंह बिष्ट है। इसके अलावा उनके एक भाई शैलेंद्र मोहन सेना में सूबेदार हैं। उनकी तैनाती भारत-चीन सीमा पर है।

मीडिया ने मुख्यमंत्री के परिवार से बातचीत की। इस दौरान उनके भाई मानवेंद्र सिंह ने बताया कि उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन वह अपने गांव योगी आदित्यनाथ का शपथ ग्रहण देखने आए हैं. उन्होंने इस दौरान बताया था कि, ”योगी आदित्यनाथ जब पैतृक गांव पहुंचे तो हमने उनसे करीब आधे घंटे तक बातचीत की और इस दौरान उन्होंने हमारा हालचाल पूछा.”इस दौरान जब योगी की मां से बात करने का भी मौका मिला। उन्होंने कहा कि उनके बेटे के दोबारा CM बनने पर उन्हें बहुत खुशी होती है. इस दौरान जब योगी जी की मां से पूछा गया कि आदित्यनाथ आपसे मिलने कब आए थे? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि, पांच साल पहले पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान मां-बेटे की मुलाकात हुई थी.

योगी ने CM के रूप में पूरे 5 साल पूरे करने के बाद लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री के रूप में वापसी करने वाले पहले व्यक्ति बनकर इतिहास रच दिया। अपने भाई योगी आदित्यनाथ को उनके संदेश के बारे में पूछे जाने पर, शशि ने कहा कि वह उनसे एक बार माँ से मिलने का अनुरोध करेंगी। योगी 25 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.शशि ने एक घटना को याद किया जब योगी (तब अजय सिंह) ने अपने पिता से कहा कि न केवल अपने परिवार की देखभाल करें, बल्कि दूसरों के बारे में भी सोचें। जिस पर पिता ने कहा था, “मै केवल 85 रुपये ही कमाता हूँ और मेरे लिए दूसरों के बारे में सोचना संभव नहीं है। आगे पिता ने योगी से कहा था “देखेगे तुम क्या करोगे … अब योगी ने कर दिखाया है।”