ट्रेन की टिकट पर यदि A लिखा हुआ है तो इसका क्या मतलब होता है, जानिए और सीक्रेट कोड

Train Ticket meaning

डेस्क : रेलवे की टिकट पर ऐसे कई सारे कोड लिखे होते हैं जो यात्री को कई चीजों के बारे में बताता है। हां, इन सभी का मतलब भले ही हमें पता नहीं होता है। ट्रेन की टिकट पर लिखे इन कोडवर्ड से सीट के बारे में, ट्रेन के बारे में, सीट कहां होगी आदि चीजों की जानकारी मिलती है। इसी तरह टिकट पर कभी A भी लिखा होता है तो आइए जानते हैं A का मतलब क्या होता है।

जब ट्रेन में हमारी सीट विंडो के पास की होती है तो उसके लिए W का इस्तेमाल किया जाता है। इसी तरह अन्य सीटों के लिए कई और शॉर्ट फॉर्म का इस्तेमाल होता है। यदि A की बात करें तो यह सिर्फ चेयर कार वाली ट्रेन में होती है, जिसमें बस की तरह सीट होती है और इस में बैठने की सुविधा होती है। आप इसमें लेट नहीं सकते हैं। बस की तरह यहां भी 3 या 2 सीटों की लाइनें होती है जिसमें यात्री बैठकर सफर कर सकते हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि ऐसी सीटें डबल डेकर ट्रेन में भी होती है। इसमें जो 3 सीट लाइन वाइज होती है उसमें विंडो की तरफ से पहले से विंडो सीट कहलाती है और इसके लिए W का इस्तेमाल होता है। विंडो सीट से अलग जो सीट होती है वह मिडल सीट होती है। इस बीच के लिए M का इस्तेमाल किया जाता है। इसके बाद जो आखरी सीट होती है उसे Asile सीट कहते हैं। यह एकदम कॉर्नर यानी कि गली के पास होती है और इस सीट के लिए A का इस्तेमाल किया जाता है। अगर एक लाइन में 2 सीट है तो एक से एक विंडो और दूसरी Asile सीट होती है।

ये भी पढ़ें   नूपुर शर्मा को नहीं मिल रही राहत, कोलकाता पुलिस ने जारी किया लुकआउट नोटिस

इसके अलावा पैसेंजर ट्रेन जिसमें सोने के लिए बर्थ लगाई गई होती है वहां विंडो सीट नहीं होती। इस ट्रेन में लोअर, मिडल और अपर के हिसाब से सीट बनाई गई होती है। जो सबसे नीचे की सीट होती है वह लोअर बर्थ होती है। बीच वाले मिडल और सबसे ऊपर वाली अपर बर्थ कहलाती है।