खुशखबरी : ट्रेन की साइड लोअर बर्थ पर अब सोने में नहीं होगी तकलीफ, रेलवे ने की है ग़जब की तैयारी

lower birth change

lower birth change

डेस्क : अगर आप भी ट्रेन में सफर करते हैं और ट्रेन के लोअर साइड बर्थ में बैठ चुके हैं तो आपको यह अंदाजा होगा कि इस सीट पर जब लेटना होता है तो कितनी परेशानी होती है साथ ही अगर कोई बैठता है और उसको नींद आती है तो उसके बाद जब उसकी नींद खुलती है तो उसके कमर में दर्द होता है। ऐसे में इस कमर दर्द की शिकायत काफी ज्यादा पैमाने पर सुनने को मिलती है, जिसके तहत रेलवे ने अब अपनी लोअर साइड बर्थ को एक नया डिजाइन दिया है साथ ही इस नई डिजाइन को रेलवे के अधिकारी ने वीडियो के माध्यम से शेयर भी किया है।

इसमें रेलवे का कहना है कि जब दोनों सीटों को गिरा दिया जाता है तो बीच में एक गैप बन जाता है। इस गैप की वजह से लोगों को कमर दर्द होता है अब इस गैप को भरने के लिए एक गद्दी फोम की बनी होगी। वह साइड में रखी रहेगी। जिसको खींचकर पैसेंजर आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही इससे पहले रेलवे जितने भी ऐसी स्लीपर क्लास के 3 टायर कोच थे उसमें यह बदलाव लाने का ऐलान किया था अब जनरल बोगी में भी इसको लाया जायेगा।

https://twitter.com/Vaidyvoice/status/1336195343927529473?s=20

जैसे ही यह गद्दे बड़े पैमाने पर कोच में लगा दिए जाएंगे तो सारी ट्रेन एसी थ्री टायर क्लास में आ जाएंगी और सभी पैसेंजर को काफी आराम रहेगा ऐसे में अब तक 200 से ऊपर कोचेस तैयार हो चुकी है और इनके लिए तीन करोड़ से ऊपर का खर्च आ चुका है इनको इकनोमिकल कोचेस कहा जाएगा जिसके अंदर आमतौर पर 72 सीटें हुआ करती थी पर अब वह 83 हो जाएँगी और साथ ही सीटों की संख्या को भी बढ़ाकर 105 तक ले जाया जाएगा जो पहले सौ तक थी। फिलहाल इसको डिजाइन नहीं किया गया है लेकिन जल्द ही उम्मीद लगाई जा रही है कि यह डिजाइन भी रेलवे अधिकारियों द्वारा साझा किया जाएगा।

You cannot copy content of this page