January 19, 2022

रामायण के “राम” सेट के पीछे जाकर करते थे स्मोकिंग – हो गये थे फैंस के गुस्से का शिकार- खुद बताई पूरी घटना : देखें Video

Arun Govil

डेस्क : रामायण सीरियल में नजर आने वाले अरुण गोविल जिन्होंने राम की भूमिका निभाई थी उनके बारे में आजकल काफी चर्चा हो रही है। उनकी जिंदगी से जुड़ा एक पुराना किस्सा सामने निकल कर आया है। यह किस्सा जानने से पहले आपको बता दें कि रामायण एक ऐसा धार्मिक सीरियल था जो हर कोई देखना पसंद करता था। इस सीरियल में आने वाले अरुण गोविल ने राम की भूमिका निभाई थी।

अरुण को असल जिंदगी में लोग खूब पसंद किया करते थे। राम के साथ ही सीता लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले दीपिका और सुनील लहरी भी मौजूद थे जिनको खूब लोकप्रियता हासिल हुई थी। वह जब भी कहीं जाते थे तो लोग झुक के उनके पाँव छू लेते थे।

एक बार अरुण गोविल ने खुद बताया था कि वह शूटिंग के वक्त सिगरेट पीने लग गए थे। जैसे ही उनको मौका मिलता था तो वह लपक कर सिगरेट की ओर चले जाते थे। लंच टाइम के दौरान अक्सर ही वह सिगरेट पिया करते थे, तभी एक बार एक शख्स वहां पर आया और उसने अरुण गोविल को सिगरेट पीते हुए देख लिया। दरअसल वह अलग भाषा का व्यक्ति था लेकिन उनको समझ आ गया कि वह उनसे नाराज है क्योंकि जनता कभी आदर्श व्यक्ति को सिगरेट पीटा हुआ नहीं देख सकती। यह बात अरुण गोविल को अच्छे से समझ आ गई लेकिन अपनी दिल की तसल्ली के लिए उन्होंने पूछा कि वह मुझको क्या बोल रहा था तब उन्होंने बताया कि सभी लोग आपको भगवान समझते हैं लेकिन आप यह सब काम करते हैं।

उस दिन के बाद से ही अरुण गोविल ने सिगरेट पीना छोड़ दिया था। अरुण गोविल रामायण सीरियल आने से पहले भी एक्टिंग किया करते थे बता दें कि उनकी एक्टिंग करियर की शुरुआत काफी पहले से ही हो गई थी। उन्होंने भूमि, हिम्मतवाला, अय्याश, दो आंखें बारह हाथ, लव-कुश जैसी फिल्में की थी। रामायण सीरियल की शुरुआत 1987 में हुई थी, इसके बाद जब यह सीरियल खूब हिट हुआ तो अरुण गोविल को कभी कोई काम करने की जरूरत नहीं पड़ी। साथ ही साथ उन्होंने अपनी छवि को भी पूरी तरीके से जनता के बीच कायम रखा।

You cannot copy content of this page
Jaggry rice Recipe : सर्दियों में झटपट बनाएं गुड़ के चावल काजू के यह जबरजस्त 7 फ़ायदे,आइए जानें Vivo का नया स्मार्टफोन, जानिए कीमत और इसकी खूबियां घर परबनाए बंगाल का नामी मिस्टी दोई सारा अली खान ने मां संग किए महाकाल के दर्शन