बिहार : शादी से ठीक पहले बारात से भागा दूल्हा…. बाद में चचेरे देवर संग करा दी दुल्हन की शादी, जानें पूरा मामला

Shadi

न्यूज डेस्क : हिंदू धर्म में शादियों को एक पवित्र रिश्ता माना जाता है। शादी के लिए परिवार वाले न जाने कितने वर्षों से आंख सजाए बैठे रहते हैं। यह हम अपने बेटी है बेटी का अपने हाथों से शादी संपन्न कराएंगे। लेकिन, कभी-कभी ऐसी परिस्थिति आती है कि बिना मां बाप ही वर वधु कभी मंदिर में तो कभी कोर्ट में शादी कर लेते हैं। कुछ ऐसा ही अनोखा मामला बिहार के मधेपुरा से आया है।

बता दें कि इस शादी में ना ही कोई सजावट थी और ना ही कोई लाइटों की चमक धमक। बस यहां दिन में पीपल के पेड़ के नीचे ही गांव वालों और पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में विवाह समारोह का कार्यक्रम कराया गया। दरअसल, ये मामला मधेपुरा ज‍िला के सदर थाना क्षेत्र के सुखासन गांव का बताया जा रहा है। जहां, गांव के ही सिकेंद्र राम के घर बुधवार की रात बेटी की शादी होनी थी। लेकिन, बारात तो आ गई। लेकिन, जैसे ही मंडप पर जाने के लिए सोचा तो पता चला पहले ही दूल्‍हा और उसके कुछ बाराती मौके से भाग निकले। इसके बाद होना क्या था। बचे हुए बारातियों को दुल्‍हन पक्ष के लोगों ने जबरन बंधक बनाकर बैठा लिया। इसके साथ ही गुस्साए गांव वालों ने उनके साथ मारपीट भी की।

फिर, ऐन वक्त पर मुखिया और पुलिस ने.. फिर इस बात की भनक पुलिस को लगी। पुलिस मौके पर पहुंचकर गांव वालों और दूल्हा पक्ष के लोगों को समझा-बुझाकर मामले को सुलझाया। इसी दौरान दूल्हे के चाचा ने अपने बेटे की शादी का विवाह-प्रस्ताव रखा। फिर इसके अगले ही दिन सुखासन पंचायत भवन के सामने पीपल के पेड़ के नीचे दोनों की शादी कराई गई। शादी में dj की बजह ट्रैक्टर पर गाने बजाए गए। गांव की महिलाओं ने गीत गाए। साथ ही गांव के प्रधान समेत थाना प्रभारी ने नवविवाहित जोड़े को आशीर्वाद भी दिया।

You cannot copy content of this page