बिहार में बिछाया जा रहा सड़कों का जाल, पटना-बेतिया के बीच होगा शानदार नए NH का निर्माण, इन सात जिलों को होगा फायदा

NH

न्यूज डेस्क : देश में सड़कों के निर्माण के पिछले आंकड़े लगातार टूट रहे हैं। खासकर, बिहार में लगातार नए नए प्रोजेक्ट के तहत सड़क निर्माण कार्य तेजी से किया जा रहा है। बता दे की अब पटना के रास्ते बेतिया जाना बहुत ही आसान होगा। क्योंकि, राज्य में नये एनएच-139 डब्ल्यू के तहत जल्द ही पटना से बेतिया के बीच 167 किमी लंबा फोर लाइन सड़क का निर्माण कार्य किया जाएगा। बता दें कि यह सड़क निर्माण कार्य को कुल पांच चरणों में किया जाएगा। सड़क निर्माण कार्य 2023 तक रखा गया। राज्य में बुद्धा सर्किट का निर्माण पूरा हो जायेगा। और 2025 से इस सर्किट के माध्यम से लोग आसानी से बोधगया, वैशाली, लौरिया और केसरिया तक सीधे जा सकेंगे। वहीं, बेतिया से वाल्मीकि टाइगर रिजर्व भी जाना आसान हो जायेगा।

नए NH बनने से इन जिलों को होगा फायदा : बता दें कि पटना से बेतिया तक नये एनएच काे बनाने लिए अलग-अलग टेंडर कर निर्माण एजेंसी का चयन किया जायेगा। इस प्रक्रिया को दिसंबर 2021 तक पूरा होने की संभावना है। यह सड़क निर्माण कार्य पटना एम्स के निकट से शुरू होकर बकरपुर, मानिकपुर व साहेबगंज, अरेराज को जोड़ते हुए बेतिया के निकट एनएच-727 तक जायेगी। जिससे पटना, सारण, वैशाली, मुजफ्फरपुर, पूर्वी और पश्चिमी चंपारण समेत विभिन्न जिलों को सीधा लाभ मिलेगा।

नए फोरलेन पुल का निर्माण डीपीआर ने कर लिया: सूत्रों के अनुसार एनएचएआइ (NHAI) ने पटना से बेतिया सड़क निर्माण की कार्ययोजना पांच पैकेज में बनायी है। इससे पहले इसी पैकेज के तहत पटना एम्स से बाकरपुर करीब 21.4 किमी लंबाई में फोरलेन सड़क और इसके अंतर्गत जेपी सेतु के बगल में करीब साढ़े पांच किमी लंबाई में फोरलेन पुल बनाया जायेगा। निर्माण कार्य के लि डीपीआर का निर्माण बिहार राज्य पुल निर्माण निगम ने कर लिया है। बता दे की केंद्र सरकार से मंजूरी मिलते ही निर्माण एजेंसी का चयन कर काम शुरू हो जायेगा। इस पुल को 3.5 साल का समय सीमा रखा गया है। ऐसे में 2025 में पुल का निर्माण होने की संभावना है।

You cannot copy content of this page