PM Kisan Samman Yojana: 42 लाख अपात्र किसानों से 3,000 करोड़ ₹ की होगी वसूली, इस राज्य में हैं सबसे ज्यादा मामले

FAke Farmer

न्यूज डेस्क : देश में पीएम किसान सम्मान निधि योजना में बड़ा फर्जीवाड़ा और गड़बड़झाला का मामला प्रकाश में आया है। बता दें कि करीब 42 लाख अपात्र लोगों ने गलत तरीके इस योजना से 2000-2000 रुपये की किस्त के रूप में 3,000 करोड़ रुपये उठा चुके हैं। गौरवतलब, है की इस योजना के तहत केंद्र सरकार सालाना 6000 रुपये की राशि किसानों के खातों में 2000-2000 रुपये के तीन किस्तों में डायरेक्ट ट्रांसफर करती है। इसी बीच अपात्र लोगों ने इस योजना का गलत इस्तेमाल किया।

देखिए, पूरी लिस्ट किस राज्य के फर्जी लोगों ने कितना लाभ लिया:

  • बिहार 52,178
  • असम। 8,35,268
  • तमिलनाडु 7,22,271
  • छत्तीसगढ़ 58,289
  • पंजाब 5,62,256
  • उत्तर प्रदेश 2,65,321

ये वो लोग हैं जो इस योजना के तहत फर्जी तरीके से रुपया का निकासी किए है। बता दें कि सरकार वसूली की प्रक्रिया तेज कर दी है। इसमें असम के अपात्रों लोगो से 554 करोड़, उत्तर प्रदेश से 258 करोड़, बिहार से 425 करोड़ और पंजाब से 437 करोड़ रुपये की वसूली होगी। भारत में संपन्न या अपात्र लोगों को अक्सर ऐसे लाभ मिलते हैं। जिनके वे हकदार नहीं होते हैं।

जानिए, कैसे हुआ फर्जीवाड़ा: जानकारी के मुताबिक अपात्र लोग फर्जी दस्तावेज, या स्थानीय स्तर के अधिकारियों की मिलीभगत और आय छुपाकर पात्र किसान होने का ढोंग करते हैं। वही असम में पेंशनभोगियों, गैर-किसानों, आयकर दाताओं और प्रत्येक परिवार के एक से अधिक व्यक्तियों के नाम सूची में हैं। योजना के केंद्रीय दिशानिर्देशों में अधिकारियों को लाभार्थियों का भौतिक सत्यापन भी करने की आवश्यकता है। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के अनुसार, योजना की लगातार निगरानी के लिए संघीय और राज्य के अधिकारियों के बीच एक वीडियो-कॉन्फ्रेंस आयोजित की जाती है।

You may have missed

You cannot copy content of this page