बारात में नहीं मिला मछली का ‘फेवरेट पीस’ तो हो गया ये ड्रामा 11 लोग जख्मी, जांच में जुटी पुलिस

FIsh

न्यूज डेस्क : आपने कई बार शादी-विवाह में नाच गाने को लेकर कई ऐेसे विवाद सुने होगे। लेकिन, यह मामला थोड़ा हटके है। यहां नाच गाने का विवाद नहीं बल्कि मछली के फेवरेट पीस खाने को लेकर जबरदस्त विवाद हो गया। ताजा मामला बिहार के गोपालगंज जिले के भोरे थाना क्षेत्र के सिसई टोला भटवलिया से निकल आया है। जानकारी के मुताबिक कुछ लोगों को मछली की डिश बेहद पसंद थी। वहीं कुछ ऐसे भी लोग थे जिन्हें केवल मछली का मुड़ा (मछली का सिर) ही खाना था। खाने में मछली का सिर न परोसे जाने को लेकर पक्ष इतना नाराज हुआ कि उसने बवाल करना शुरू कर दिया। बस होना क्या था दोनों के बीच जबरदस्त झड़प हो गई। धीरे-धीरे यह मामला खूनी संघर्ष तक पहुंचने लगा। इस घटना में करीब 11 लोग जख्मी हो गए।

मछली का मुड़े नहीं देने से विवाद शुरू हुआ: जानकारी के मुताबिक भोरे थाने के सिसइ टोला भटवलिया में छठू गोंड के यहां बारात आयी थी। शादी-समारोह में खिलाने के लिए मछली-चावल का इंतजाम किया गया था। घायल सुदामा गोंड ने बताया कि उनका बेटा राजू गोंड और मुन्ना गोंड मछली परोस रहे थे। इसी बीच पड़ोसी अजय गोंड और अभय गोंड अपने जाननेवाले मेहमानों को लेकर आये और खिलाने के लिए बैठा दिये। खाने के लिए बैठे लोगों को पहले राउंड में दो-दो पीस मछली दिया गया। जिसके बाद मछली के मुड़े की फरमाइश की गयी। मछली के मुड़े नहीं दिये जाने पर राजू गोंड व मुन्ना गोंड की पिटाई कर दी गयी। इस बीच छठू गोंड समेत अन्य लोग पहुंचे तब तक दोनों पक्ष के बीच कुर्सियां चलने लगी।

इससे पहले भी मुर्गे के लेग पीस को लेकर विवाद हुआ था: इस संबंध में स्थानीय एसडीपीओ नरेश कुमार का कहना है कि पुलिस दोनों पक्ष के मामले की जांच कर रही है। अलग-अलग बयान दर्ज कर प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया लगभग एक माह पूर्व उचकागांव थाने के नरकटिया गांव में आठ मई को आई बारात में मुर्गे के पीस के साथ लिट्टी नहीं परोसने पर गोली चल गई थी। जिसमें राजेंद्र सिंह नामक व्यक्ति की मौत हो गयी थी। जबकि तीन लोग घायल हो गए थे।

You may have missed

You cannot copy content of this page