बेगूसराय में प्राइवेट स्कूल की मनमानी बर्दाश्त नहीं, जिला प्रशासन प्राइवेट स्कूलों पर करें करवाई नहीं तो होगा आंदोलन – आलोक

Private School

न्यूज डेस्क : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला संयोजक सह एलएमएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आलोक कुमार के नेतृत्व में प्राइवेट स्कूल प्रबंधन की मनमानी के खिलाफ सेंट जूडस विद्यालय मुख्य द्वार पर एकदिवसीय सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता नगर सह मंत्री कृष्णा मिश्रा एवं संचालन आनंद कुमार ने किया। इस दौरान प्राइवेट विद्यालय प्रबंधन की मनमानी और लगभग साल भर से कोविड 19 के कारण राज्य सरकार के निर्देश पर विद्यालय बंद रहने के बावजूद अभिभावक,छात्र छात्राओं से जबरन स्कूल फीस वसूले जाने के विरोध में अभाविप बरौनी ईकाई के कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों ने जमकर स्कूल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की और कहा प्राइवेट स्कूलों की तानाशाही नहीं चलेगी।छात्र शक्ति राष्ट्र शक्ति है।

कोरोना काल के दौरान स्कूली बच्चों से मांग की जाने वाली स्कूल फीस प्रबंधन को माफ करना होगा। जैसे नारे घंटों गूंजते रहे।वहीं सेंट जूड्स विद्यालय के प्रधानाचार्य के द्वारा अभाविप द्वारा की जाने वाली मांग पर संतोष जनक  आश्वासन के बाद धरना को समाप्त किया गया।एवं अभाविप जिला संयोजक ने कहा दिये गये आश्वासन के अनुरूप अगर एक सप्ताह के अंदर अभिभावक छात्र छात्राओं की फीस संबंधित समस्या का समाधान नहीं किया गया तो अभाविप व छात्र संघ उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगा।जिसकी सारी जबाबदेही स्कूल प्रबंधन की होगी । वहीं एलएमएनयू छात्र संघ अध्यक्ष सह अभाविप जिला संयोजक आलोक कुमार ने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को पूरा स्कूल फीस माफ करे प्राइवेट विद्यालय प्रबंधन।बिहार के प्राइवेट स्कूल प्रबंधन द्वारा छात्र छात्राओं व उनके अभिभावकों का आर्थिक और मांसिक शोषण किया जा रहा है।

राज्य सरकार की निरंकुशता के कारण प्राइवेट स्कूल में अध्ययनरत लाखों छात्र छात्राओं का भविष्य अंधकारमय बना हुआ है।कोरोना महामारी से पूरा देश आर्थिक संकट की मार झेल रहा है।और बिहार जैसे राज्य में प्राइवेट स्कूलों का बोलबाला है।विद्यालय प्रबंधन के द्वारा लगभग एक साल में पच्चास हजार की राशि जबरन वसूली की जाती है अब तो सामान्य परिवार के लोग अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूल में पढ़ाना भी नामुमकिन हो चुका है।बेगूसराय के जिलाधिकारी एवं और जिला शिक्षा पदाधिकारी से हमारी मांग है कि प्राइवेट स्कूलों पर लगाम लगाने के लिए ठोस पहल की जाए नहीं तो गरीब छात्रों का दबी हुई आवाज को उठाने के लिए विद्यार्थी परिषद पूरे जिले में उग्र आंदोलन करेगी।मौके पर बजरंग दल जिला सहसंयोजक रोशन मिश्रा एवं प्रखंड संयोजक मनीष बिहारी ने कहा कि प्राइवेट स्कूल की मनमानी बर्दाश्त से बाहर है प्राइवेट स्कूल का साफ कहना है कि बिना फीस जमा किए ना तो परीक्षा फॉर्म भरा दिया जाएगा ना ही रजिस्ट्रेशन भरने दिया जाएगा इतनी आर्थिक तंगी में भी प्राइवेट स्कूल के द्वारा छात्रों और अभिभावकों के ऊपर मानसिक दबाव डाला जा रहा है और आर्थिक शोषण किया जा रहा है।

मौके पर फुलवरिया थाना की पुलिस विमलेश कुमार के नेतृत्व में आक्रोशित छात्रों से बात कर स्कूल प्रबंधक के द्वारा एक सप्ताह में इस समस्या के निदान की बाद पर धरना को समाप्त किया गया। मौके पर सौरव सांवरिया,जिला मीडिया प्रभारी ध्रुव कुमार, सत्येंद्र कुमार,अमित कुमार,सुभाष सिंह कश्यप,पंकज कुमार,जितेंद्र कुमार गुप्ता,राहुल मेहता,विक्की स्वर्णकार,मनीष स्वर्णकार,कुंदन कुमार,संजय यादव, दीपक कुमार सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे।

You cannot copy content of this page