आम बजट में बेगूसराय को मिली कई रेल परियोजनाओं की सौगात, जिले के इन स्टेशनों पर यात्रियों की बढ़ेगी सुविधा

Begusarai Station Airport

न्यूज डेस्क : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार बेगूसराय में औद्योगिक विकास, आधारभूत संरचना विकास के साथ-साथ रेल परियोजनाओं के माध्यम से विकास में भी तीव्र गति से काम कर रही हैं। पेश किए गए बजट में भी पूर्व मध्य रेलवे के अंतर्गत आने वाले बेगूसराय एवं यहां से जाने वाले पूर्वोत्तर भारत समेत अन्य रेल यात्रियों को भविष्य में बड़ा फायदा होगा।

लेकिन जिले में दो-दो सांसद रहने के बावजूद जिला मुख्यालय के रेलवे स्टेशन के विकास और बहु प्रतिक्षित बरौनी-हसनपुर नई रेल लाइन निर्माण का कोई प्रावधान नहीं किए जाने से लोगों में मायूसी है। जारी किए गए बजट में बछवाड़ा-हाजीपुर दोहरे रेलखंड दोहरी लाइन बिछाने के कार्य में प्रस्तावित व्यय को बढ़ाया गया है। बरौनी- बछवाड़ा- बरौनी यार्ड के ढांचे में परिवर्तन सहित 32 किलोमीटर में तीसरी एवं चौथी लाइन बिछाने के स्वीकृति लागत में वृद्धि की गई है। बेगूसराय-मुंगेर के बीच गंगा नदी पर अवस्थित रेल-सह-सड़क पुल के प्रस्तावित व्यय में भी वृद्धि कर काम में तेजी लाने का प्रयास किया गया है। बरौनी बायपास रेलवे स्टेशन का समुचित विकास किया जाएगा।

यहां तमाम यातायात सुविधाओं में वृद्धि के लिए प्रस्तावित व्यय बढ़ाई गई है। तिलरथ माल यातायात टर्मिनल के प्रस्तावित व्यय में भी वृद्धि की गई है। बेगूसराय-तिलरथ समपार फाटक संख्या 47-बी पर डबल लेन ऊपरी पुल का निर्माण कराया जाएगा। बरौनी-तिलरथ रेलखंड पर समपार फाटक संख्या 61 पर उपरी पुल, बरौनी-तेघड़ा रेलखंड के समपार फाटक संख्या 7-बी एवं 9 पर ऊपरी पुल निर्माण का प्रस्ताव है। समस्तीपुर-खगड़िया रेल पथ, बरौनी-कटिहार रेल पथ, बछवाड़ा-हाजीपुर रेल पथ में कई जगहों पर नवीकरण भी किया जाएगा। इसके अलावा विभिन्न स्टेशनों पर प्रदूषण नियंत्रण, यात्री सुविधाओं में विस्तार, वर्तमान ढांचे में परिवर्तन, स्वचालित सीढ़ी एवं स्वचालित टिकट विक्रय मशीन समेत अन्य यात्री सुविधा में भी वृद्धि का प्रावधान किया गया है।

लेकिन, ललित नारायण मिश्र के रेल मंत्री तत्काल से प्रतिक्षित और पिछले वर्ष ही सर्वेक्षण पूरा कर प्रस्ताव भेजे गए बरौनी-हसनपुर नए रेल लाइन निर्माण के बिंदुओं पर किसी प्रकार की चर्चा नहीं की गई है। वहीं, बजटीय प्रावधान में बेगूसराय स्टेशन के विकास, प्लेटफार्म नंबर चार एवं पांच का निर्माण, विस्तारीकरण, स्टेबलिंग लाईन, लूप लाइन बिछाने का प्रावधान, उत्तर साईड (लोहियानगर) तरफ बुकिंग आफिस, गेट, निकास द्वार सहित लंबित विकास के अन्य बिंदुओंं पर किसी प्रकार की चर्चा नहीं की गई है। जिससेे लोगों में भारी निराशा है। सोनपुुर रेल मंडल डीयूआरसीसी केे सदस्य शंभू कुमार ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा पेश किया गया बजट सभी मामलों में अभूतपूर्व है।

रेल समेेत तमाम विभागों में प्रावधान किया गया है। लेकिन बिहार की औद्योगिक राजधानी बेगूसराय जिला मुख्यालय के रेलवे स्टेशन पर विकास के किसी योजनाओंं की चर्चा नहीं होना निराशाजनक है। पिछले एक साल से समिति की बैठक भी नहींं बुलाई है। अधिकारी कोरोना का बहाना कर रहे हैं, अगर अधिकारी चाहतेे तो वर्चुअल बैठक की जा सकती थी। बैठक कर प्रस्ताव भेजा जाता तो कुछ ना कुुछ फायदा जरुर होता। हम लोग लिखित रूप से तत्काल उपलब्ध कराए जाने वाले महत्वपूर्ण सेवा के लिए पत्राचार कर रहे हैं। सरकार और रेल मंत्रालय इस पर विचार करेगी। राज्यसभा सदस्य प्रो. राकेश सिन्हा भी रेलवे के विकास को लेकर सजग हैं तथा प्रयास कर रहे हैं।

You may have missed

You cannot copy content of this page