मारुति की इस कार में आई बड़ी खराबी, कंपनी ने कहा- तुरंत सही कराए, चेक करें आपकी कार तो लिस्ट में नहीं

dezire maruti

डेस्क : मारुति ने अपने ग्राहकों के लिए जरूरी नोटिफिकेशन जारी किया है। कंपनी ने अपनी 166 डिजायर टूर एस को वापस बुलाने का फैसला किया है। कंपनी के मुताबिक इन 166 कारों में एयरबैग कंट्रोल यूनिट में प्रॉब्लम है।

मारुति ने अपने ग्राहकों के लिए जरूरी नोटिफिकेशन जारी किया है। कंपनी ने अपनी 166 डिजायर टूर एस (Dzire Tour S) को वापस बुलाने का फैसला किया है। कंपनी के मुताबिक इन 166 कारों में एयरबैग कंट्रोल यूनिट में प्रॉब्लम है। जिसके चलते इन्हें रिकॉल किया गया है। कंपनी ने कहा है कि इन सभी कारों को बिना किसी किसी चार्ज के सही किया जाएगा। कंपनी ने 6 से 16 अगस्त के बीच की डिजायर टूर एस को रिकॉल किया है। मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड (MSIL) ने रेगुलेटरी फाइलिंग में इस बारे में जानकारी दी।


डिजायर टूर एस का इंजन:मारुति सुजुकी डिजायर टूर एसकी कीमत 6.05 लाख रुपए से 7 लाख रुपए (एक्स-शोरूम) तक जाती है। डिजायर एस टूर तीन वैरिएंट्स में पेश की जाती है और इसका एक CNG वर्जन भी आता है। इस सेडान कार में 1.2-लीटर पेट्रोल इंजन मिलता है। यह इंजन अधिकतम 82 bhp का पावर और 113 Nm का पीक टॉर्क जेनरेट करता है। इस इंजन के साथ 5-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन मिलता है। कार का माइलेज 19.95km/l है।

रिप्लेसमेंट से पहले ड्राइव नहीं करने की सलाह: मारुति सुजुकी ने द्वारा शेयर बाजारों को दी गई जानकारी के मुताबिक, इन कारों में बिना किसी फीस के एयरबैग कंट्रोल यूनिट को बदला जाएगा। कंपनी के मुताबिक, एयरबैग कंट्रोल यूनिट में डिफेक्ट के चलते यह जरूरत के समय काम नहीं करेगा। इसलिए ग्राहकों को इसके रिप्लेसमेंट होने तक कार नहीं ड्राइव करने की सलाह दी गई है।

ये भी पढ़ें   Tata चुपके से लॉन्च की धांसू SUV - Mahindra XUV700 को देगी कड़ी चुनौती! देखे - फीचर्स और कीमत

रिकॉल होने वाली कार की लिस्ट देखने की प्रोसेस: रिकॉल में शामिल हुए मॉडल्स में आपकी कार का नाम है या नहीं, इसका पता आप कंपनी की वेबसाइट www.marutisuzuki.com पर जाकर लगा सकते हैं। साइट पर जाने के बाद कार मालिक को ‘Imp Customer Info’ सेक्शन पर जाना होगा। यहां पर अपनी कार का चेसिस नंबर भरकर जांच कर सकते हैं कि क्या उनके व्हीकल को भी इस रिकॉल में रखा गया है या नहीं। चेसिस नंबर एमए3 के बाद 14 अंकों का होता है और यह गाड़ी के आईडी प्लेट पर होता है और यह कार के इनवॉयस/रजिस्ट्रेशन डॉक्यूमेंट्स पर भी होता है।