अमर सिंह नहीं होते तो मैं मुंबई में टैक्सी चला रहा होता- अमिताभ बच्चन

डेस्क : 1 अगस्त 2020 को समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। दिवंगत अमर सिंह कि पहुंच राजनीति के साथ-साथ फिल्मी दुनिया और इससे लेकर व्यापारियों तक की थी। समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता अमर सिंह को भुलाना आसान नहीं होगा.इनसे जुड़ी बहुत सारी ऐसी बातें हैं जो कि इस चर्चा का विषय बनी रही. महानायक अमिताभ बच्चन और अमर सिंह की दोस्ती जग जाहिर है आज हम आपको एक ऐसा ही वाक्य बताने जा रहे हैं जो महानायक अमिताभ बच्चन और अमर सिंह से जुड़ा हुआ है.

अमिताभ बच्चन ने अमर सिंह को लेकर एक बात कहा था उन्होंने कहा था,”अगर अमर सिंह शुरुआती दौर में साथ ना होते तो मैं कहीं पर टैक्सी चला रहा होता.” इसके बाद साल 2016 में अमर सिंह “द संडे एक्सप्रेस” के एक इंटरव्यू में लाइव थे उस वक्त उन्होंने बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन से अपने दोस्ती से जुड़ी कुछ बातें शेयर किया था,उन्होंने कहा था कि, साथ न रहने वालों को मैं भूल जाता हूं, और समय है जो बीता तो वापस नहीं आता।”

आगे उन्होंने बताया कि अपने जीवन में बच्चन परिवार को मैंने 20 साल दिए हैं, उनके बच्चों पर मैंने अपनी बेटियों से अधिक ध्यान दिया है, उनके मुश्किल वक्त में मैंने उनका साथ निभाया है घर नीलामी की कगार पर था और उनका जहाज जब डूब रहा था उस वक्त मैंने अमिताभ बच्चन का साथ दिया था और अमिताभ ने खुद इस बात को स्वीकार करते हुए कहा था कि अमर सिंह उनके साथ ना होते तो एक मामूली टैक्सी चालक होते। अमर सिंह ने 2016 में यह दावा किया कि उन्हें अमिताभ बच्चन ने खुद अपनी पत्नी जया को पार्टी में स्वीकार करने को लेकर आगाह किया था। अमर सिंह उनके दोस्त हैं और उनसे अपनी बातें कहने का पूरा हक है ऐसा भी अमिताभ ने कहा था।

कुछ वक्त पहले अमर सिंह ने अमिताभ बच्चन से मांगी थी माफी आपको बता दें कि कुछ वक्त पहले अमर सिंह ने एक वीडियो जारी करके अमिताभ बच्चन से माफी मांगी थी.यह बात उस वक्त की है जब वह अपना इलाज सिंगापुर में करवा रहे थे. उन्होंने कहा कि आज हमारी दोस्ती को 10 साल बीत चुके हैं लेकिन अमिताभ जी की निरंतरता में कोई कमी आज भी नहीं आई है. फिर चाहे मेरे जन्मदिन जैसा शुभ अवसर हो या पिताजी की बरसी जैसी मुश्किल घड़ी, अमिताभ जी पूरी निष्ठा से अपना कर्तव्य निर्वाह करते हुए मुझे नजर आए हैं, ऐसे में मैं उस इंटरव्यू में अपने अधिक उग्र स्वभाव के लिए बच्चन साहब के सामने शर्मिंदा हूं।