जब अचानक फिल्म शूटिंग के लिए दिलीप कुमार पहुंचे थे मुंगेर के पीरपहाड़ी, देखने के लिए जमा हो गई थी हज़ारों की भीड़

Dilip Kumar Munger

न्यूज डेस्क : फिल्म इंडस्ट्री के स्तंभ माने जाने वाले बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार अब इस दुनिया में नहीं रहे। भले ही दिलीप कुमार इस दुनिया को छोड़ कर चले गए, मगर उनकी यादें अभी भी लोगों के दिलो और दिमाग में है। बता दें कि बात 1966-67 की बात है। जब दिलीप कुमार मुंगेर के पीर पहाड़ी पर एक फिल्म की शूटिंग करने दिलीप साहब पहुंचे थे। सबसे खास बात यह भी है कि दिलीप साहब का योगनगरी मुंगेर से काफी पुराना रिश्ता है। उस दौर में पीर पहाड़ी पर पुरे डेढ़ दिनों तक शूटिंग चली थी। जब शूटिंग चल रही थी तो जैसे ही आस-पास के गांव वालों को इसकी भनक लगी वो लोग दौड़े उस स्थान पर पहुंच गए। उस वक्त दो दिनों तक लोग बिना घर गए पीर पहाड़ के आसपास समय का गुजारा किया था

इस जगह पर हुई थी शूटिंग: बता दे की जिस लोकेशन के लिए दिलीप कुमार की शूटिंग के लिए आए थे। वह एक राजा का महल है। लेकिन, आज वह महल खंडहर में तब्दील हो गया। मगर, इसकी ख्याति अभी भी दूर दूर तक फैली हुई है। बता दें कि इस महल में कुल 58 द्वार और 52 कोठी है। मतलब 52 कमरे और 58 प्रवेश द्वार हुआ करता था। वहां के ग्रामीणों की माने तो उस फिल्म का नाम तय नहीं हुआ था। फिल्म में दिलीप कुमार मुख्य अभिनेता की भूमिका में थे। महल के तीनों तरफ कैमरे लगे हुए थे।

अभिनेता और अभिनेत्री में झगड़े की सीन को फिल्माया गया था। इस फिल्म में अभिनेत्री पीर पहाड़ी से गंगा में कूद जाती है। पहाड़ से गंगा में कूदने वाले सीन में अभिनेत्री की जगह एक लड़की के पुतले कपड़ा पहनाकर लटका दिया जाता है। बता दें कि उस दौड़ में अक्सर मुंबई से फिल्म डायरेक्टर उस पहाड़ियों पर फिल्म शूटिंग किया करते थे। क्योंकि पीर पहाड़ी से गंगा नदी बहुत नजदीक थी।