ये हैं देश के सबसे लोकप्रिय चायवाले, अंग्रेजी में चाय बेचकर खड़ा किया करोड़ों का साम्राज्य – इस छोटे बदलाव से चमकी किस्मत

MBA Chaiwala

न्यूज डेस्क: प्रफुल्ल बिलोर को आज ‘एमबीए चायवाला’ के नाम से जाना जाता है। तमाम कोशिशों के बावजूद वह कैट में अच्छा स्कोर नहीं कर पाया, इसलिए उसने पढ़ाई बीच में ही छोड़ने का फैसला किया और टूटे दिल से उसने आखिरकार सड़क पर चाय बेचना शुरू कर दिया। अहमदाबाद में एमबीए की पढ़ाई के दौरान उन्होंने एक रेस्टोरेंट में पार्ट टाइम काम किया। इस दौरान उन्होंने एक चाय वाले से बात करने के बाद फैसला किया कि वह एक चाय की दुकान खोलेंगे।

व्यापार के पहले दिन, प्रफुल्ल ने दूध खराब कर दी थी बहुत अधिक चीनी मिलाकर चाय खराब हो गई और वह केवल एक कप चाय बेच पाया। धीरे-धीरे उनकी चाय की दुकान अच्छी चलने लगी। कुछ ही महीनों में वह 15,000 रुपये प्रति माह तक कमाने लगा। इस बीच, उन्होंने एमबीए छोड़ दिया, हालांकि, उनके माता-पिता ने इसका विरोध किया था। उनकी कहानी हाल ही में ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे द्वारा साझा की गई थी। प्रफुल् ने बताया “जब मैंने अपना सब कुछ देने के बाद भी कैट में अच्छा स्कोर नहीं किया, तो मैं फैल हो गया। निराश होकर, मैंने एक टी स्टाल खोलने का फैसला किया।

लेकिन मेरे माता-पिता चाहते थे कि मैं एक डिग्री प्राप्त करूं पर वह मेरी मर्ज़ी नहीं थी। इसलिए 20 साल की उम्र में, मैंने इंटर्नशिप से अपनी बचत का उपयोग किया। अहमदाबाद पहुंचकर मैंने रुकने का फैसला किया और एक रेस्तरां में अंशकालिक नौकरी करने लगा। इसके बाद उन्होंने अपनी MBA की पढ़ाई की और फिर अपनी चाय की दुकान खोली।दुकान पर ओपन माइक सेशन और बुक ड्राइव का आयोजन शुरू किया। वैलेंटाइन डे पर उनकी ‘सिंगल के लिए मुफ्त चाय’ वायरल हो गई और वहां मौजूद सभी सिंगल उनकी दुकान पर चले गए। वह तब मशहूर हुए और शादियों में चाय परोसने के ऑर्डर मिलने लगे

You may have missed

You cannot copy content of this page