Raj Kundra Business Model : जानिए कैसे अश्लील फिल्म बनकर ऐप पर चलती थीं – मुंबई पुलिस ने खोली पोल

Raj Kundra Business Inside Story

डेस्क : इस वक्त बॉलीवुड इंडस्ट्री में सिर्फ राज कुंद्रा का ही मुद्दा छाया है। राज कुंद्रा उन लोगों को शिकार बनाते थे जो फिल्म इंडस्ट्री में अपना नाम बनाने आते थे। वह उन सभी छोटे कलाकारों से घिनौना कार्य करवाते थे, जिसको करने में हर इंसान की रूह कांप जाए।

बता दें कि राज को गिरफ्तार हुए अब तक 2 दिन हो चुके हैं। ऐसे में वह किसी से भी संपर्क में नहीं है। वहीं दूसरी तरफ मुंबई पुलिस और क्राइम ब्रांच की नजर शिल्पा शेट्टी पर बनी हुई है। रोजाना पत्रकार लोग राज कुंद्रा के घर के बाहर नजर आ रहे हैं, बता दें कि मुंबई क्राइम ब्रांच ज्वाइंट कमिश्नर का एक बयान आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि राज कुंद्रा सभी छोटे कलाकारों को वेब सीरीज में बड़ा रोल देने का दावा करते थे और इसके बिनाम पर उनसे ऑडिशन के दौरान घिनौना कार्य करवाते थे। जब वह अश्लील फिल्में पूरी तरह से तैयार कर लेते थे तो उनको मोबाइल एंड्राइड एप्लीकेशन पर डालते थे और जो ग्राहकों इन एप्लीकेशंस को चलाता था उनसे वह कुछ पैसा चार्ज करते थे।

ऐसे में उनकी कंपनी 1 दिन में चार लाख से ज्यादा रुपए का मुनाफा कमाने लग गए थे। इस मामले में पहली बार एफआईआर मुंबई के मालबड़ी इलाके में हुई थी, जिसके तहत 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इस तरह का बिजनेस मॉडल राज कुंद्रा को उनके एक यूके के दोस्त से सीखा था। उनका वह दोस्त एक व्यवसाई है जो इसी प्रकार का कार्य करता है। जब उनकी यह अश्लील फिल्में इंटरनेट पर डाली जाती थी तो यूके का IP अड्रेस इस्तेमाल किया जाता था। ऐसे में अब सभी चैट्स मुंबई पुलिस के हाथों लग गई है। अब पुलिस उनकी पत्नी शिल्पा शेट्टी की भूमिका इस मामले में जानना चाहती है। फिलहाल शिल्पा शेट्टी के खिलाफ कोई ठोस सबूत पुलिस को नहीं मिला है।

बता दें कि कई छोटे स्तर के कलाकार आगे आए हैं जो यह कह रहे हैं कि राज कुंद्रा के सहयोगी उमेश कामत ऑडिशन लेते थे और ऑडिशन के दौरान मॉडल्स के कपडे उतरवाते थे। ऐसे में एक मॉडल ने उनका विरोध किया था उसके बाद उस मॉडल ने आगे राज की कंपनी के साथ काम नहीं किया था। इससे पहले राजस्थान रॉयल्स पर सट्टा लगाने के लिए उनको सर्वोच्च न्यायालय से आर्डर आ चुका है की वह किसी भी प्रकार से BCCI से कोई सम्बन्ध नहीं रखेंगे।

You cannot copy content of this page