Amazon पर “कड़ी पत्ता” का टैग लगाकर बेच रहे थे गांजा, पुलिस ने मामले का ऐसे किया खुलासा..

amazon

डेस्क: यो तो देश में नशा तस्करी के आपने कई तरह के मामले सुने होंगे, लेकिन इस बार ऑनलाइन तस्करी का मामला सामने आया है। ताजा मामला मध्य प्रदेश के भिंड जिले से आया है, जहां, अंतराष्ट्रीय ऑनलाइन डिलेवरी कंपनी अमेजन द्वारा ऑनलाइन मेरिजुआना यानी ‘गांजा’ तस्करी किया जा रहा था। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही 20 किलो गांजा भी जप्त किया है। आरोपियों से शुरुआती पूछताछ में जानकारी मिली है कि अभी तक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से करीब एक टन मैरिजुआना (गांजा) की तस्करी की जा चुकी है।

मामला का ऐसे खुलासा हुआ: बता दे की पुलिस को ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म अमेजन द्वारा गांजे की डिलीवरी की सूचना मिली थी, जिसके आधार पर भिंड एसपी ने साइबर सेल की टीम को इसकी जिम्मेदारी देते हुए मामले में संदिग्ध आरोपी ग्वालियर के मुरार इलाके का निवासी सूरज पवैया पर नजर रखने के निर्देश दिए थे, जिस पर सतत निगरानी रखी जा रही थी। पुलिस अधिकारी और साइबर सेल ने मिलकर आरोपी सूरज पवैया को भिण्ड- ग्वालियर हाइवे रोड पर गोविंद ढाबे के पास पकड़ा, साथ ही गोविंद ढाबे के संचालक बृजेंद्र तोमर को भी हिरासत में लिया है। 

अब तक 1 टन गांजे की हो चुकी है तस्करी: बता दे की पुलिस ने आरोपियों से 20 किलो गांजा सहित अंतरराष्ट्रीय कंपनी अमेजन की पैकिंग के डिब्बे रैपर बारकोड टैगिंग समेत अन्य सामग्री भी जब्त की है। अभी तक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से 1 टन मारिजुआना की तस्करी की गई है। ऑनलाइन डिजिटल प्लेटफार्म के जरिए लगभग 1 करोड़ 10 लाख रुपये के लेनदेन हुई है।

कड़ी पत्ते के टैग में गांजे की तस्करी: यहां तक की आरोपी सूतजी पवैया अमेज़न द्वारा कड़ी पत्ते के टैग से आंध्र प्रदेश से मारिजुआना की डिलीवरी अमेजन के जरिए ग्वालियर, भोपाल, कोटा और आगरा समेत अन्य जिलों में करता था, मारिजुआना की इस बिक्री का करीब 66.66 फीसदी हिस्सा अमेजन को जाता है। पुलिस इस पूरे मामले में अभी आरोपी से लगातार पूछताछ कर रही है। कार्रवाई अभी जारी है।

You cannot copy content of this page