गंगा के लगातार बढ़ते जलस्तर से भगवानपुर चक्की में बढ़ी लोगों की परेशानी, जनप्रतिनिधियों ने अंचल कार्यालय पर दिया धरना

Dharna

तेघरा (बेगूसराय) गंगा के जलस्तर में लगातार तेजी से वृद्धि होने के कारण प्रखंड के भगवानपुर चक्की वार्ड संख्या 13 एवं 14 को बाढ़ की पानी ने अपना पांव पसार कर अपने आगोश में ले चुका है। जिसके कारण भगवानपुर चक्की के गांव का संपर्क मार्ग पर बेतहाशा पानी की रफ्तार से लोगों को गांव के बाहर आने का संपर्क समाप्त हो चुका है। प्रशासन की ओर से मात्र दो छोटी नाव एवं कुछ दवा की व्यवस्था के अलावे प्रशासन अभी तक मुख दर्शक बना हुआ है।

प्रशासन के द्वारा अभी तक ना तो लाइट, नहीं विस्थापितों के लिए अस्थाई घरों की व्यवस्था और ना ही कोई राहत का कार्य चलाया गया है जिसको लेकर बाढ़ पीड़ित लोग बाढ़ की पीड़ा से व्यथित हें। वहीं बाढ़ की पानी में हजारों बीघे में लगी फसल भी बर्बाद हो गयी है। दुसरी तरफ बाढ़ प्रभावित लोगों में सर्दी खाँसी एवं बुखार जैसी बीमारी भी तेजी से फैल रही है।

कांग्रेस नेता रवि रंजन कुमार,विधान परिषद प्रतिनिधि विनोद कुमार मिश्र उर्फ गोरेलाल बाबा ,रात गांव के उप मुखिया मोहम्मद इब्राईल, वार्ड सदस्य सुशील राम , वार्ड सदस्य संदीप कुमार ,वार्ड सदस्य राजेश चौधरी, वार्ड सदस्य सरोज कुमार सिंह, वार्ड सदस्य मिंटू देवी एवं वार्ड सदस्य उदय महतो एवं अन्य जनप्रतिनिधियों ने गुरुवार को अंचल कार्यालय का घेराव कर बाढ़ पीड़ितों के हित में राहत कार्य सहित अन्य सुविधा उपलब्ध करवाने की मांग की।

अंचलाधिकारी के अनुपस्थिति में अंचल राजस्व पदाधिकारी सुश्री रश्मि ने अंचलाधिकारी सुजीत सुमन से मोबाइल पर बात कर बाढ़ क्षेत्रों में जिला पदाधिकारी के निर्देशानुसार संबंधित सभी राहत के कार्य चलाने का आश्वासन दिया तब जाकर धरना समाप्त की गई।

ये भी पढ़ें   स्कूटनी की प्रक्रिया खत्म होते ही चुनावी हलचल शुरू

विधान पार्षद प्रतिनिधि विनोद मिश्र उर्फ गोरेलाल बाबा, कांग्रेस नेता रवि रंजन कुमार ,उप मुखिया मोहम्मद इब्राईल एवं वार्ड सदस्य संदीप कुमार ने बताया कि प्रशासन के द्वारा जो छोटी नाव की व्यवस्था की गई है उस नाव की दुर्घटना की संभावना हमेशा बनी रहती है साथ ही बाढ़ पीड़ितों को रोशनी उपलब्ध नहीं है और ना ही पशुओं के लिए कोई चारे की व्यवस्था है क्षेत्र में हाहाकार मचा हुआ है अगर प्रशासन के द्वारा त्वरित पहल नहीं की गई तो आंदोलन तीज की जाएगी।