बिहार को सक्षम और स्वावलंबी बनाने में सहकारिता आवश्यक, मुखिया पंकज सहनी

Mukhia

तेघरा (बेगूसराय) सहकारिता अगर गरीबी मुक्ति, स्वाबलंबी समाज, रोजगार मूलक व्यवसाय, सहकारिता में नवाचार जैसे मसलों को लेकरआगे बढ़ती है तो बिहार को सक्षम और स्वावलंबी बनाने में सहकारिता महत्वपूर्ण भूमिका आधार कर सकती है यह विचार पकठौल के मुखिया पंकज साहनी ने 23 सितंबर शुक्रवार को गंगोत्री महिला किसान स्वाबलंबी सहकारी समिति लिमिटेड तेघड़ा (एफ पी ओ) का प्रथम वार्षिक आम सभा के आयोजन के अवसर पर कही। यह कार्यक्रम नव युवक संघ पुस्तकालय पकठौल के प्रांगण में हुआ।

इस एफ पी ओ को प्रधानमंत्री के 10, हजार एफ पी ओ कार्यक्रम के तहत एनसीडीसी के माध्यम से प्रदान संस्था द्वारा प्रोत्साहितकिया जा रहा है । इस क्रयाक्रम में 350 से अधिक किसान उपस्थित हुए। इस अवसर पर इस एफपीओ के पदाधिकारियों (बी ओ डी) द्वारा सभी सदस्यों को इस संस्था का लेखा जोखा प्रस्तुत किया गया और इस संगठन के क्षेत्र विस्तार पर निर्णय लिया गया।

इस कार्यक्रम में पकठौल के मुखिया पंकज सहनी ,पिपरा दोदराज के मुखिया निरज प्रभाकर, प्रधान संस्था से सहाना, भारती, दीपा, रवि, मनिष, मृत्युंजय अर्जुन, और गंगोत्री महिला किसान सहकारी समिति लिमिटेड के अध्यक्ष मंजू देवी, सचिव आशा देवी, और बिओडी सदस्य बबिता देवी, घुरण देवी, एवं समिति के ceo शाहिद आलम , सुबोध कुमार भारती, गुड्डी, सीता कंचन बब्लू अन्य जनप्रतिनिधि के साथ साथ, एवम प्रदान संस्था के अधिकारी गण, अलावे में भारी संख्या में किसान उपस्थित थे।

इस कार्यक्रम का शुरुवात माननीय मुखिया जी और BOD के सदस्यों द्वारा दीप प्रज्वलन करके किया गया । इन्होंने महिला किसानों को आगे बढने में सहयोग के साथ विभिन्न सरकारी योजना के बारे विस्तार से बतया और उससे जुड़ कर लाभ उठाने को प्रेरित किया ।

ये भी पढ़ें   तेघरा के नवनियुक्त अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी डॉक्टर रविंद्र मोहन प्रसाद ने पदभार संभाला