विद्यालय प्रधान पर अभिभावक से बदसलूकी का आरोप, ग्रामीणों नें काटा जमकर बवाल

Bachwara News

न्यूज डेस्क , बेगूसराय : बेगूसराय जिले के बछवाड़ा प्रखंड में एक स्कूल प्रधान के द्वारा ग्रामीणों के साथ अमर्यादित व्यवहार करने का मामला सामने आया है। मामला बछवाड़ा प्रखण्ड के रानी दो पंचायत अंतर्गत उच्च माध्यमिक विद्यालय बेगमसराय का है। जहां प्रधानाध्यापक की मनमानी से तंग आकर ग्रामीणों नेें विद्यालय प्रांगण में जमकर बवाल काटा। प्रधानाध्यापक के खिलाफ ग्रामीणों ने जमकर नारेबाजी की और शिक्षा विभाग के अधिकारी से मांग किया, कि वर्तमान प्रधानाध्यापक को हटाया जाए।

नए प्रधानाध्यापक को विद्यालय में लाया जाए जिससे विद्यालय का पठन पाठन सुचारु रुप से प्रारंभ हो सके। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि प्रधानाध्यापक योगेन्द्र साहनी विद्यालय में मनमानी करते हैं। जब कोई विद्यार्थी के अभिभावक विद्यालय आते हैं तो उनके साथ दुर्व्यवहार करते हैं। बुधवार को शिक्षा समिति की बैठक थी और विद्यालय प्रधान खुद गायब थे। जबकि शिक्षा समिति के अध्यक्ष समेत सभी सदस्य विद्यालय परिसर में मौजूद थे। गार्जियन को डराने और धमकाने के लिए पुलिस बैनर लगाया गया है, उक्त जबकि किसी भी विद्यालय में बैनर नहीं लगाया हुआ है। उल्लेखनीय है कि लोग पुलिस बैनर कह रहे हैं वह बैनर इंस्टीट्यूशन अधिनियम का बैनर है यह बैनर इसलिए लगाया जाता है कि लोगों को जानकारी मिले की आप यदि विद्यालय के किसी भी कर्मचारी या शिक्षक से दूर्व्यवहार करते हैं तो लोगों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

रानी दो पंचायत के सरपंच विनोद साह नें बताया कि आसपास के तमाम बच्चे विद्यालय समापन होने के बाद इस विद्यालय में खेलने के लिए आते हैं। प्रधानाध्यापक से वैचारिक मतभेद हो जाने के कारण प्रधानाध्यापक ने उनके खेलने की सामग्री जला दी है। खेल सामग्री जलाए जाने को लेकर कई लोग आक्रोश में आ गए। ग्रामीणों को समझा-बुझाकर, तय किया गया कि ग्रामीण व प्रधानाध्यापक आपस में बैठकर मतभेद को बुधवार तक खत्म कर लें। इस दौरान रानी दो पंचायत के मुखिया दीपांकर कुमार, सरपंच विनोद साह समेत गांव के कई बुद्धिजीवियों नें आक्रोशित लोगों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया और अगली तिथि को बैठक का प्रस्ताव दिया।

You may have missed

You cannot copy content of this page