4 February 2023

बछवारा : लक्ष्मणटोल गांव में दुग्ध उत्पादक किसानों के बीच बोनस वितरण समारोह आयोजित

बछवारा : लक्ष्मणटोल गांव में दुग्ध उत्पादक किसानों के बीच बोनस वितरण समारोह आयोजित 1

बछवारा ( बेगूसराय ) प्रखंड क्षेत्र के चमथा एक पंचायत के लक्ष्मणपुर गांव में दुग्ध उत्पादक किसानों के बीच चमथा द्वारा दुग्ध उत्पादक सहयोग समिति द्वारा बोनस वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया । बोनस वितरण समारोह में चमथा द्वारा दुग्ध उत्पादक सहयोग समिति लिमिटेड के पोषक क्षेत्र के सैकड़ों किसान मौजूद थे ।

बोनस वितरण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बरौनी डेयरी के प्रबंधक प्रापण ओमप्रकाश सिंह विशिष्ट अतिथि के रूप में बरौनी डेयरी के निवर्तमान दुग्ध संग्रह पदाधिकारी गौरी दास पथ प्रभारी विरेन्द्र राय मौजूद थे । बोनस वितरण कार्यक्रम की अध्यक्षता इंद्रदेव प्रसाद राय ने किया वही संचालन पर्यवेक्षक जीवछ यादव ने किया । बोनस वितरण कार्यक्रम में मौजूद बरौनी डेयरी के प्रबंधक प्रापन ओमप्रकाश सिंह ने मौजूद किसानों को बरौनी डेयरी द्वारा संचालित दुग्ध समिति से होने वाले विभिन्न लाभ हो से अवगत करायासाथी समिति से जुड़े किसानों को दे दी द्वारा दिए जाने वाले लाभ के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दिया ।

वही कार्यक्रम में मौजूद बरौनी डेहरी के निवर्तमान दुग्ध संग्रह पदाधिकारी ने मौजूद किसानों को पशुपालन के वैज्ञानिक तौर तरीके व पशुपालन से होने वाले लाभ के बारे में भी गूढ़ रहस्य बताएं । साथ ही उन्होंने कम खर्च में अधिक मुनाफा होने का भी गूढ़ रहस्य किसानों को बताया । चमथा दियारा दुग्ध उत्पादक सहयोग समिति लिमिटेड के सचिव रविशंकर सिंह ने बताया कि वर्ष 2015-16 से लेकर 2020-21 तक में दूध देने वाले 91 किसानों के बीच 175557 रुपए का वितरण किया गया है ।

जिसमें 134227 रुपए नगद व 41330 रुपए का सामग्री का वितरण किया गया है । उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2015-16 से लेकर वित्तीय वर्ष 2020-21 तक में दूध देने वाले किसान में प्रथम स्थान बैजनाथ सिंह, द्वितीय स्थान सतीश सिंह और तृतीय स्थान शिवनाथ सिंह ने प्राप्त किया है । मौके पर दुग्ध समिति के अध्यक्ष बैजनाथ सिंह पर्यवेक्षक मनीष कुमार पंकज कुमार दुग्ध उत्पादक किसान अमरेश कुमार ,बैजनाथ राय ,सुबोध सिंह, विष्णु देव सिंह, रामप्रवेश राय ,सागर राय ,प्रवीण कुमार ,रामचंद्र राय, धीरज कुमार ,राम ईश्वर राय ,रामप्रवेश पासवान ,राजन पासवान, हरबंस पासवान समेत दर्जनों किसान मौजूद थे ।