बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ ने काली पट्टी बांधकर जताया सांकेतिक विरोध

Teacher Black band

बछवाड़ा (बेगूसराय ) बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर राज्यकर्मी का दर्जा एवं पुरानी पेंशन योजना को लागू करने के उद्देश्य से गुरूवार को प्रखंड के सभी शिक्षको ने काली पट्टी बांधकर सांकेतिक विरोध जताते हुए काला दिवस के रूप में मनाया। प्रखंड अध्यक्ष साकेत कुमार सिंह ने कहा कि वर्ष 2004 में अटल बिहारी वाजपेयी जी की सरकार में सरकारी कर्मचारियों के पुरानी पेंशन योजना को बंद करने का प्रस्ताव पारित हुआ था।

जिसके आलोक में 31 अगस्त 2005 को बिहार सरकार ने भी अध्यादेश जारी कर एक सितंबर 2005 से पुरानी पेंशन योजना को बंद कर दिया। कार्यक्रम के माध्यम से सरकार से पुनः पुरानी पेंशन योजना लागू करने की मांग की जायेगी।उन्होंने कहा पेंशन योजना को सरकारी कर्मियों के बुढ़ापे की लाठी कहा जाता है।

इसलिए पुरानी पेंशन योजना को पुनः लागू करवाने के लिए संघ चरणबद्ध आंदोलन चलाने का निर्णय लिया है। जिस क्रम में गुरुवार को यह सांकेतिक विरोध प्रदर्शन किया गया। साथ ही तीन सितंबर को पूरे प्रमंडल में गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा में सरकार एवं शिक्षकों की भूमिका पर संघीय पदाधिकारियों एवं प्रतिनिधियों की कन्वेक्सन आयोजित की जायेगी।

इसके लिए संघ अपनी तैयारी में जुटी हुई है। इस कार्यक्रम में प्रखंड सचिव कृष्ण कुमार बिदुर,प्रखंड कोषाध्यक्ष विजय कुमार चौधरी,प्रखंड उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार राय,आफताब अंसारी,रानी चौधरी, राजकुमार राम,रामकल्याण सहनी संयुक्त सचिव चन्द्रदेव कुमार सहनी,हेमंत कुमार दास,जितेन्द्र कुमार झा, संदीप कुमार,देवेंद्र पंडित जिला प्रतिनिधि सौरभ कुमार,संजय पासवान,बलराम प्रसाद सिंह,नवीन कुमार, सुनील कुमार,ऋतुराज प्रसाद,दिनेश कुमार चौधरी,मोहन कुमार,अजीत कुमार शर्मा,राकेश रंजन राज्य प्रतिनिधि अम्ब्रेश प्रसाद सिंह,राजेश कुमार मीडिया प्रभारी रक्षित रंजन ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया।

ये भी पढ़ें   कायाकल्प खगड़िया की टीम ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बछवाड़ा का किया निरीक्षण