गर्भवती महिलाओं की आंगनवाड़ी केंद्रों पर हुई गोद भराई की रस्म

Teghra

तेघरा ( बेगूसराय) पोषण की महत्व पर की गई चर्चा, गर्भवती महिलाओं को मिली पोषण की पोटली महिलाओं ने गाया मंगल गीत कुपोषण के खिलाफ प्रखंड के आंगनवाड़ी केंद्रों पर 1 सितंबर से 30 सितंबर तक पोषण माह मनाया जा रहा है इस दौरान विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है।

मात्री पोषण स्तर को बढ़ाने के उद्देश्य से प्रखंड के विभिन्न आंगनवाड़ी केंद्रों पर पोषण की जानकारी के साथ गोद भराई रस्म का आयोजन किया गया। बाल विकास परियोजना तेघड़ा अंतर्गत बरौनी एक पंचायत के शांति हिंद आजाद पुस्तकालय के समक्ष आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 77 पर विशेष गोदभराई कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

जिसमें पंचायत के सभी सेविकाओं की उपस्थिति में गर्भवती महिलाओं को पोषक आहार वितरण के साथ बेहतर पोषण और प्रसवपूर्व जांच की जानकारी दी गई। कार्यक्रम में पूरे क्षेत्र की लाभार्थियों ने भाग लिया। इस अवसर पर महिला पर्यवेक्षिका डॉक्टर प्रमिला सिन्हां ने कहा कि गोद भराई दिवस मनाने का उद्देश्य महिलाओं में पोषण को लेकर जागरूकता बढ़ाना है।

गर्भावस्था में महिलाओं को खान-पान द्वारा अपने गर्भस्थ बच्चे का भी ध्यान रखना होता है।प्रतिदिन हरे साग-सब्जी, मूंग का दाल, सतरंगी फल, सूखे मेवे एवं दूध, सप्ताह में दो से तीन बार अंडे, मांस, गर्भवती महिला को खाना चाहिए। इस अवसर पर महिलाओं को उपहार स्वरूप पोषण की थाली भेंट की गई। जिसमें सतरंगी थाली व अनेक प्रकार के पौष्टिक भोजन पदार्थ शामिल किया गया। गर्भवती महिलाओं को चुनरी ओढ़ाकर और टीका लगाकर गोद भराई की रस्म पूरी की गई। उक्त अवसर पर महिलाओं द्वारा मंगल गीत गाया गया।

ये भी पढ़ें   प्राथमिकी दर्ज करने की मांग को लेकर परिजनों ने किया रोड जाम

केंद्र की सेविका रीना देवी एवं नीतू कुमारी में ने बताया कि आगामी 19 सितंबर को 6 माह से अधिक उम्र के बच्चों को खीर खिला कर उनका अन्नप्रासन कराया जायेगा। अन्नप्रासन के साथ ही बच्चों के संपूर्ण देखभाल सम्बन्धी जानकारी क्षेत्र की महिलाओं को दी जाएगी। महिलाओं को बच्चे के पोषण के लिए जरूरी आहार के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। उन्होने बताया कि घर में सूजी, गेहूं का आटा, चावल, रागा और बाजरा के साथ पानी या दूध को मिलाकर दलिया बना कर बच्चों को खिला सकते हैं। आहार में चीनी या गुड़ भी दिया जा सकता है। मौके पर आंगनवाड़ी सेविका सुलेखा देवी , पूनम देवी , सिंटू कुमारी , रेखा गुप्ता , आशा रेखा देवी के अलावे क्षेत्र के दर्जनों महिलाएं शामिल हुई।