अब WhatsApp Calling नहीं रहेगी फ्री, जानिए सरकार क्यों उठा रही है यह कदम

WhatsApp Calling

INDIAN COMMUNICATION BILL : भारतीय दूरसंचार विधेयक, 2022: इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप के जरिए मुफ्त कॉलिंग की सुविधा जल्द ही बंद हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्र सरकार एक नया बिल ला रही है, जिससे फ्री वॉट्सऐप कॉल की सुविधा खत्म हो जाएगी.

सरकार ने भारतीय दूरसंचार विधेयक, 2022 का मसौदा तैयार किया है और उसमें कई नए बदलाव किए हैं। नए बिल के मुताबिक ऑनलाइन फ्री कॉलिंग की सुविधा देने वाले ऐप्स को ट्राई से ‘टेलीकॉम लाइसेंस’ की जरूरत होगी।

आपको ऑनलाइन कॉलिंग के लिए भुगतान करना होगा: इस नए बिल का ड्राफ्ट तैयार होने के बाद आम लोगों के मन में एक सवाल है कि क्या भविष्य में यूजर्स को व्हाट्सएप कॉलिंग के लिए भुगतान करना होगा। इसका उत्तर यह है कि यदि यह विधेयक संसद द्वारा पारित हो जाता है तो यह कानून बन जाएगा। नतीजतन, ट्राई ऐसी कॉलों के लिए शुल्क पर अंतिम फैसला करेगा।

बता दें कि भारत में बड़ी संख्या में लोग इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप का इस्तेमाल करते हैं। आंकड़ों के मुताबिक WhatsApp के एक्टिव यूजर्स की संख्या 40 करोड़ से ज्यादा है. विधेयक का मसौदा मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

सरकार ने 20 अक्टूबर तक मांगे सुझाव फिलहाल ये यूजर्स वॉट्सऐप या दूसरे ऐप पर डेटा कॉस्ट के तौर पर पेमेंट करते हैं, लेकिन लाइसेंस फीस के बाद क्या होगा, इस पर कुछ नहीं कहा जा सकता। हो सकता है कि बिल आने के बाद व्हाट्सएप या अन्य इंटरनेट कॉलिंग कंपनी इसके लिए अतिरिक्त चार्ज करने लगे। केंद्र सरकार ने नए विधेयक पर 20 अक्टूबर तक सुझाव मांगे हैं। इसके बाद ही इस पर स्थिति स्पष्ट होगी।

ये भी पढ़ें   Whatsapp ने यूजर्स के लिए लाया कमाल का फीचर, वीडियो कॉल पर एक साथ 32 लोग कर सकेंगे बातचीत

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, व्हाट्सएप के अलावा इंटरनेट कॉलिंग ऐप जैसे स्काइप, जूम, टेलीग्राम और गूगल डुओ को भी लाइसेंस देना होगा। इस नए टेलीकम्युनिकेशन बिल में ओटीटी प्लेटफॉर्म्स को भी शामिल किया गया है।