अब सभी कंपनियों को देना होगा एक जैसा चार्जर, केंद्र सरकार लाइ नया ऑर्डर

charger

डेस्क : वर्तमान में, भारत में कई प्रकार के चार्जर हैं जो विभिन्न उपकरणों के लिए हैं। सबसे लोकप्रिय टाइप-सी चार्जर के बाद माइक्रो यूएसबी और फिर ऐप्पल का लाइटनिंग चार्जर आता है। यूरोपीय देशों में एक डिवाइस-एक चार्जर की लंबे समय से चर्चा है। भारत में किसी डिवाइस-एक चार्जर या यूं कहें कि एक आम चार्जर-का जिक्र नहीं था, लेकिन अब खबरें आ रही हैं कि सरकार इस पर विचार कर रही है।

अब सभी कंपनियों को देना होगा एक जैसा चार्जर, केंद्र सरकार लाइ नया ऑर्डर 1

रिपोर्ट के मुताबिक, 17 अगस्त को टेक इंडस्ट्री और कंज्यूमर मिनिस्ट्री के अधिकारियों की मीटिंग हुई है। इस मीटिंग में सिर्फ कॉमन चार्जर्स पर ही चर्चा होने वाली है। बैठक में सभी मोबाइल निर्माण कंपनियां भी हिस्सा लेंगी। वर्तमान में, भारत में कई प्रकार के चार्जर हैं जो विभिन्न उपकरणों के लिए हैं। सबसे लोकप्रिय टाइप-सी चार्जर के बाद माइक्रो यूएसबी और फिर ऐप्पल का लाइटनिंग चार्जर आता है।

हाल ही में, यूरोपीय संघ ने 2024 में शुरू होने वाले सामान्य चार्जर के रूप में यूएसबी टाइप-सी पोर्ट की स्वीकृति की घोषणा की। इसका मतलब है कि 2024 में, यूरोपीय देशों में बेचे जाने वाले सभी डिवाइस केवल टाइप-सी पोर्ट का समर्थन करेंगे। इसी तरह की घोषणा अमेरिका में भी की गई है।

पीटीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक सरकारी अधिकारी ने कहा है कि जब अमेरिका और यूरोप की सभी कंपनियां एक ही तरह का चार्जर मुहैया करा सकती हैं तो भारत में क्यों नहीं? “अगर भारत सरकार की ओर से आम चार्जर्स को लेकर कोई दबाव नहीं है, तो अमेरिका और यूरोप से सभी चार्जर भारतीय बाजार में लाए जाएंगे।

ये भी पढ़ें   Vi यूजर की बढ़ी टेंशन! अब कभी भी गायब सकता है नेटवर्क, जानिए - क्या है वजह..

मौजूदा हालात में यूजर्स को हर नए डिवाइस (स्मार्टफोन, लैपटॉप, अन्य गैजेट) के लिए नए तरह का चार्जर खरीदना पड़ रहा है। सरकार अगर आम चार्जर का ऑर्डर दे तो लोगों को आराम मिलेगा और एक ही चार्जर से कई डिवाइस चार्ज किए जा सकते हैं। iPhone और Android यूजर्स चार्जर को लेकर सबसे ज्यादा शिकायत करते रहते हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार, 2018 में अमेरिका में बिकने वाले सभी चार्जर में से आधे यूएसबी माइक्रो बी चार्जर थे, जबकि 29 प्रतिशत टाइप-सी चार्जर थे और 21 प्रतिशत लाइटनिंग चार्जर थे, या 21 प्रतिशत डिवाइस ऐप्पल थे, क्योंकि केवल ऐप्पल ही ट्रिक का उपयोग करता है। पावर पोर्ट। करता है