8 February 2023

प्रिंटर में काम करते हुए बचानी है इंक तो अपनाएं ये बेहतरीन तरीके

ink

प्रिंटर का इस्तेमाल पहले सिर्फ दफ्तरों में हुआ करता था लेकिन आजकल यह बच्चों की पढ़ाई का अहम हिस्सा बन गया है अब प्रिंटर है तो प्रिंटर की इंक भी होगी। कई बार ऐसा होता है कि काम करते-करते अचानक इंक खत्म हो जाती है।क्योंकि हमें अंदाजा ही नहीं होता कि इंक का इस्तेमाल किस हिसाब से हो रहा है। तो आज हम आपको ऐसे तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका इस्तेमाल कर आप कम इंक में ज्यादा काम कर पाएंगे।


प्रिंट प्रीव्यू फीचर का इस्तेमाल : प्रिंटर में किसी भी चीज को प्रिंट करने से पहले प्रीव्यू जरूर देखें क्योंकि बिना प्रीव्यू देखे प्रिंट का फॉर्मेट अक्सर गलत हो जाता है और ऐसे में पेज के साथ साथ इंक भी बर्बाद होती है। लेकिन प्रीव्यू फीचर का इस्तेमाल कर आप तय कर सकते हैं कि प्रिंट होने पर कैसा लगेगा या फिर कौन सा स्पेस अर्जेस्ट करने की आवश्यकता है।


कलर कैटेगरी : प्रिंट करने से पहले आप प्रिंटर में जरूर चेक कर ले कि किसमें कलरफुल इन ON तो नहीं है क्योंकि कलरफुल इंक ब्लैक एंड वाइट इंक के मुकाबले ज्यादा मात्रा में खर्च होती है। अगर आप एक विविड पिंक और पर्पल थीम के साथ एक वेबपेज प्रिंट कर रहे हैं तो हो सकता है कि आप Black & White पर स्विच कर लें। उदाहरण के लिए, हो सकता है कि आप जिस आर्टिकल को प्रिंट कर रहे हैं, उसके आखिर में एक बड़ा, फैंसी फुटर मौजूद हो, जिससे आपकी इंक ज़्यादा खर्च होगी।


ड्राफ्ट मोड : इस फीचर्स का इस्तेमाल कर आप इंक को बचा सकते हैं। इसके लिए आप पहले फाइल पर जाएं और फिर प्रिंट करें यह डिटेल प्रिंट सेटिंग के साथ एक नई विंडो खोल देता है। इसके बाद प्रॉपर्टीज पर क्लिक करें और पेपर क्वालिटी की हेडिंग पर जाएं, यहां, आप ड्राफ्ट क्वालिटी प्रिंटिंग को सेलेक्ट कर सकते हैं।


फॉन्ट : कुछ फॉन्ट अन्य फोन के मुकाबले ज्यादा इंक कंज्यूम करते हैं। क्योंकि, फॉन्ट की टाइपिंग का प्रकार इस चीज पर निर्भर करता है। ऐसे में अगर आपको छोटा काम है तो इन फोन पर स्विच कर इंक सेव की जा सकती है।