भारत में अगले 5 सालों में बढ़ जाएंगे 33 करोड़ 5G यूजर, तेज़ रफ़्तार से होगा डेटा का इस्तेमाल

5g India in Next 5 years

डेस्क : भारत में 5G तकनीक एक विवादित मुद्दा रही है। बता दें कि 5G के चलते कई लोगों ने इसका विरोध किया। बॉलीवुड जगत से जुड़ी अभिनेत्री जूही चावला ने इसके खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी। सबूत पर्याप्त न होने के कारण याचिका रद्द की गई। उनके ऊपर 20 लाख रूपए का जुर्माना लगाया गया। बता दें भारत की टॉप टेलीकॉम कंपनियां जैसे एयरटेल और जिओ ने अपनी 5G टेस्टिंग शुरू कर दी है।

टेस्टिंग के लिए अनेकों विदेशी कंपनियों ने भारत की टेलीकॉम कंपनियों से हाथ मिलाया है। ऐसे में एरिकसन की एक रिपोर्ट के मुताबिक 2026 में भारत के 33 करोड़ ग्राहक ऐसे होंगे जो 5G का इस्तेमाल कर रहे होंगे। आने वाले समय में 5G डाटा खपत भी 3 गुना बढ़ जाएगी, जिसके चलते अंदाजा लगाया जा रहा है कि प्रति व्यक्ति 40 गीगाबाइट डाटा खर्च होगा। वही एरिकसन की मोबिलिटी रिपोर्ट के मुताबिक 14 जी.बी डाटा हर महीने बढ़ जाएगा। रिपोर्ट में साफ लिखा गया है कि 2026 तक भारत में 26% आबादी ऐसी होगी जो 5G का इस्तेमाल कर रही होगी।

भारत में ऐसे लोग रह रहे हैं जो 50% ज्यादा पैसा खर्चने को तैयार हैं, बता दें कि यह लोग 5G तकनीक को जल्दी से जल्दी इस्तेमाल करना चाहते हैं। वह चाहते हैं कि उनको इंटरनेट के साथ-साथ अन्य डिजिटल सेवाएं भी प्राप्त हो। एयरटेल ने हाल ही में 1GBPS से ऊपर की स्पीड हासिल कर ली है। वही जियो भी इस क्रम में कार्य कर रहा है, सूत्रों के मुताबिक एयरटेल ने साइबर हब (गुड़गांव) में स्थित अपने हेड क्वार्टर में यह टेस्टिंग की है। एरिक्सन का कहना है कि कंपनी दिन-प्रतिदिन नए प्रयोग कर रही है। ऐसे में आने वाला भविष्य बेहद ही सुंदर होने वाला है। एरिक्सन के सीईओ का कहना है कि साल के अंत में वैश्विक स्तर पर 5G इस्तेमाल करने वाले लोग 50 करोड़ की संख्या में पहुंच जाएंगे।

You cannot copy content of this page