May 27, 2022

‘ये बनेगा तेंदुलकर ’: इस भारतीय खिलाड़ी ने शुरुवाती दिनों में मिले तानों का किया खुलासा

sanju samson

सपने देखना जितना आसान है, उन्हें पूरा करना उतना ही ज्यादा मुश्किल। एक खिलाड़ी क्रिकेट के मैदान अपने साथ अपने सपने,परिवार की उम्मीदों को लिए उतरता है। कई बार कुछ मुश्किलों,लोगो की बातें, सारी परेशानियों सभी का सामना कर अपने सपने को हकीकत में बदलने की लगन ही उसे सफल बनाती है।

राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन ने ब्रेकफास्ट विथ चैंपियंस में बहुत से खुलासे किए। संजू को शुरुवाती दिनों में लोगों से मिलने वाले तानों, परिवार की सुनी तीखी बातों के जिक्र किया। भारत के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर खेल चुके राजस्थान रॉयल्स के युवा कप्तान संजू सैमसन मूल रूप से केरला आते है। विकेटकीपर बल्लेबाज ने शुरुवाती दिनों में लोगों से मिले हुए अपमान का खुलासा किया।

RR कप्तान ने विस्तार से बताया कि कैसे उनके माता-पिता को, उनके किटबैग को बस स्टैंड तक ले जाने के लिए लोगों ने उनका मजाक बनाया। “मेरे पापा और मम्मी मेरा किट बैग उठाते थे, जो बहुत भारी था,बस स्टैंड तक छोड़ने के लिए। पीछे से शोर होता था” ओए सचिन और उसके पापा भी जा रहे हैं भाई, ये बनेगा तेंदुलकर? “(ओह देखो, सचिन और उनके पिता भी जा रहे हैं। ये तेंदुलकर बनेंगे?) इसलिए उन्होंने भी बहुत ताने सहे हैं।” गौरव कपूर के शो ब्रेकफास्ट विद चैंपियंस पर सैमसन ने कहा।

संजू के परिवार ने उनके है फैसले में उनका साथ दिया। उनके परिवार को भरोसा था कि वे एक दिन भारत के लिए जरूर खेलेंगे। संजू को काबिलियत पर उनके परिवार व बड़े भाई को यकीन था। “लेकिन उन्हें और मुख्य रूप से मेरे भाई को भरोसा था कि मैं भारत के लिए खेलूंगा। मेरे भाई ने मुझे बताया कि यह उनका अंधविश्वास था कि मुझे यह नहीं बताया कि मैं भारत के लिए खेलूंगा लेकिन वह हमेशा से जानता था कि मैं एक दिन भारत के लिए जरूर खेलूंगा।”

सैमसन ने 2015 में T -20 में जिम्बाबे के खिलाफ डेब्यू किया। दुबारा से नीली जर्सी डालने के लिए संजू को 5 साल लग गए। संजू सैमसन ने भारत के लिए 13 T-20 व 1 वनडे मैच खेला है। साल 2013 में राजस्थान रॉयल्स से जुड़े, 2016, 2017 में राजस्थान के सस्पेंशन के बाद दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम से IPL खेला। 2021 IPL सीजन में संजू को राजस्थान रॉयल्स का कप्तान बनाया गया।