टोक्यो ओलंपिक: महिला टीम के शानदार प्रदशन से, हार मिलने के बाद भी लोगों में खुशी की लहर

Indian Women hockey team

डेस्क : महिला हॉकी टीम ने हार कर भी इतिहास रच दिया है। चारो तरफ की प्रशंसा की जा रही है। ओलंपिक मैडल भलेही छूट गया हो लेकिन भारतवासी इनके बेहतरीन प्रदर्शन से काफी खुश है। टोक्यो ओलंपिक के इस रोमांचक मैच में ब्रिटेन की टीम ने भारत को 4-3 से शिकस्त दी। जिसके बाद भारतीय टीम का इस बार ओलंपिक में मेडल जीतने का सपना अधूरा रह गया। परंतु भारत में लोग महिला टीम के खेल के प्रति जुनून देख बेहद उत्साहित हैं। “हारता वही है जो लड़ता है”।

देश के सभी बड़े नेता भी इनको बधाई देने से नही थक रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, “इस टीम पर गर्व है। हम टोक्यो 2020 में अपनी महिला हॉकी टीम के शानदार प्रदर्शन को हमेशा याद रखेंगे। हम महिला हॉकी में एक पदक से चूक गए लेकिन यह टीम न्यू इंडिया की भावना को दर्शाती है। टोक्यो 2020 में उनकी सफलता अधिक बेटियों को हॉकी के लिए प्रेरित करेगी।” वहीं हरियाणा के सीएम एमएल खट्टर ने घोषणा किया कि वे ओलंपिक महिला हॉकी टीम के नौ सदस्यों को 50-50 लाख रुपये का पुरस्कार देंगे जो हरियाणा से हैं। आगे कहते है- “मैं भारतीय टीम को टोक्यो ओलंपिक में उनके सराहनीय प्रदर्शन के लिए बधाई देता हूं।” भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल के पिता ने कहा कि यह हार नहीं बल्कि महिला हॉकी टीम द्वारा किए गए प्रयास की जीत है।

वापसी पर रानी का खुशी-खुशी स्वागत किया जाएगा। भविष्य में कई लड़कियों को प्रेरित करेगी महिला हॉकी टीम। इस वाक्य से टीम की सभी सदस्यों कोप्रोत्साहन मिलेगी। वहीं भारतीय महिला टीम के कांस्य पदक के मैच में ग्रेट ब्रिटेन से हारने पर हॉकी खिलाड़ी नेहा गोयल की मां भावुक हो जाती है। और कहती है कि हार-जीत तो खेल का हिस्सा है। उन्हें यकीन है कि टीम फिर से जीतेगी। इस तरह पूरे देश मे एक अलग दृश्य देखने को मिल रहा है। लोग हार में भी जम के खुशी मना रहे हैं।

You may have missed

You cannot copy content of this page