बार बार कप्तान बदलने के ट्रेंड पर सौरव गांगुली ने तोड़ी चुप्पी, बताया इसके पीछे का असली कारण

Sourav Ganguly

कुछ महीनों में भारतीय टीम की कमान कई खिलाड़ी संभाल चुके हैं. विराट कोहली(Virat Kohli) के कप्तानी छोड़ने के बाद रोहित शर्मा (Rohit Sharma)को तीनों फॉर्मेट का कप्तान नियुक्त किया गया था. उसके बाद से अब तक टीम के लिए केएल राहुल(KL Rahul), शिखर धवन(Shikhar Dhawan), ऋषभ पंत(Risabh Pant), हार्दिक पांड्या(Hardik Pandya), जसप्रीत बुमराह(Jasprit Bumrah) टीम की बागडोर संभाल चुके हैं.

लगातार सीरीज दर सीरीज टीम की कप्तानी में बदलाव देखा गया जिसकी पूर्व खिलाड़ियों ने कड़ी आलोचना की. BCCI के अध्यक्ष सौरभ गांगुली(Sourav Ganguly) ने इसका जवाब दिया है. इंडिया टुडे से बात करते हुए सौरव गांगुली ने इस फैसले के पीछे का कारण बताया है.

गांगुली ने कहा, “रोहित शर्मा क्रिकेट तीनों ही फॉर्मेट में भारतीय टीम के कप्तान हैं. वह काफी ज्यादा क्रिकेट खेल रहे हैं. ऐसे में उनका चोटिल होना लाजमी है और इस वजह से उनको चोट से बचाने के लिए ब्रेक की जरूरत होती है. इस चीज से हमें ही फायदा मिलता है यह काफी सारे नए खिलाड़ियों को आगे आने का मौका देता है जो इस वक्त हमें दिख भी रहा है.”

पिछले कुछ महीनों की बात की जाए तो साउथ अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज के लिए केएल राहुल को कप्तान बनाया गया था. उनके चोटिल होने के बाद ऋषभ पंत को टीम की कमान सौंपी गई. आयरलैंड दौरे पर हार्दिक पांड्या ने टीम की कप्तानी की. वहीं वेस्टइंडीज के खिलाफ शिखर धवन के नेतृत्व में भारतीय टीम ने वनडे सीरीज खेली. अब जिंबाब्वे के साथ होने वाली आगामी वनडे सीरीज के लिए एक बार फिर राहुल को कप्तान बनाया गया है.

ये भी पढ़ें   IND vs AUS: टीम को नहीं खली रवींद्र जडेजा की कमी, ऑस्ट्रेलियाई कोच भी Axar Patel के हुए मुरीद

सौरभ गांगुली ने कहा, “हमने वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में शानदार जीत हासिल की, इंग्लैंड को उसके घर पर हराने में भी सफलता पाई. यह सब इन नए खिलाड़ियों की फौज के दम पर ही संभव हो पाया है. अब भारत के पास 30 खिलाड़ियों की एक अच्छी खासी पुल तैयार हो चुकी है जो किसी भी समय भारत की अंतरराष्ट्रीय टीम के लिए खेलने में सक्षम है.”