Tokyo Paralympics: बिहार के प्रमोद ने बैडमिंटन पुरुष एकल SL3 में देश के लिए जीता चौथा गोल्ड मेडल..

Pramod Bhagat

न्यूज डेस्क: जापान की राजधानी टोक्यो चल रहे पैरालंपिक खेलों में शनिवार का दिन भारत के लिए बेहद खास रहा, बता दे की टोक्‍यो पैरालिंंपिक (Tokyo Paralympics) में बिहार के वैशाली जिले के लाल प्रमोद भगत ने गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है। प्रमोद भगत (Pramod Bhagat) ने टोक्यो पैराओलंपिक के पुरुष एकल बैडमिंटन स्पर्धा में (एसएल-3) वर्ग के फाइनल में ब्रिटेन के डेनियल बेथेल को दो सीधे सेटों में 21-14 और 21-17 से हराया और स्वर्ण पदक जीत लिया। इस जीत के साथ ही देश की झोली में चौथा स्वर्ण पदक आ गिरा। भारत की पदक तालिका अब बढ़कर 16 हो गई है। जिसमें अब तक चार स्वर्ण पदक, सात रजत और पांच कांस्य पदक शामिल हैं।

प्रमोद का ऐसा रहा सफर: जानकारी के लिए आपको बता दें की दुनिया के नंबर वन खिलाड़ी प्रमोद के लिए यह साल बेहतरीन रहा है। प्रमोद अप्रैल में दुबई पैरा बैडमिंटन टूर्नामेंट में दो गोल्ड मेडल जीते थे। उसके बाद कोरोना महामारी के कारण एक साल के ब्रेक के बाद वापसी की थी। उन्होंने सिंगल्स में स्वर्ण पदक जीतने के अलावा मनोज सरकार के साथ मिलकर (एसएल 4 – एसएल 3) वर्ग में मिक्स्ड डबल्स का स्वर्ण पदक भी जीता था। बता दे की वर्ल्ड चैम्पियनशिप में 4 गोल्ड समेत 45 इंटरनेशनल पदक जीतने वाले प्रमोद ने बैडमिंटन के वर्ल्ड चैम्पियनशिप में पिछले 8 साल में दो गोल्ड और एक सिल्वर मेडल अपने नाम किए हैं। 2018 पैरा एशियाई खेलों में भी उनके नाम एक सिल्वर और एक ब्रॉन्ज मेडल रहा।

You may have missed

You cannot copy content of this page