December 7, 2022

इस भारतीय गेंदबाज के कायल हुए कामरान अकमल कहा- ‘भारत को दूसरा जहीर खान मिल गया है’

इस भारतीय गेंदबाज के कायल हुए कामरान अकमल कहा- ‘भारत को दूसरा जहीर खान मिल गया है’ 1

टी20 वर्ल्ड कप की शुरुआत में मात्र 15 दिन रह गए हैं. 16 अक्टूबर से इस वैश्विक टूर्नामेंट की शुरुआत होगी. भारतीय टीम टी20 वर्ल्ड कप से पहले साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेल रही है. पहले मुकाबले में भारतीय टीम को 8 विकेट से जीत हासिल हुई. इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने 1-0 से सीरीज में बढ़त बना ली है. इस मुकाबले में भारत के युवा तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह (Arshdeep Singh) ने अपनी खतरनाक गेंदबाजी से तहलका मचा दिया.

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए उन्होंने पावरप्ले में एक ही ओवर में 3 विकेट लेकर साउथ अफ्रीका के बल्लेबाजी क्रम को पीछे की ओर धकेल दिया. उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए उन्हें ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ भी चुना गया. वहीं अब पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी ने इस युवा भारतीय तेज गेंदबाज की तारीफ में कसीदे पढ़े हैं. पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज कामरान अकमल (Kamran Akmal) ने अर्शदीप सिंह की जमकर प्रशंसा की है. उन्होंने अर्शदीप तुलना भारत के दिग्गज पूर्व गेंदबाज जहीर खान (Jahir Khan) से की है. उनका मानना है कि भारतीय टीम को दूसरा जहीर खान मिल गया है.

अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए कामरान अकमल ने कहा,“अर्शदीप सिंह एक अविश्वसनीय गेंदबाज है. मेरे ख्याल से इंडियन टीम को दूसरा जहीर खान मिल गया है. उनके पास पेस और स्विंग दोनों है और वह समझदारी से बॉलिंग करता है. साथ ही वह मानसिक रूप से मजबूत है. हमें पता है कि उनके अंदर क्या छमता है हालात को कैसे इस्तेमाल करना है. अर्शदीप के पास गति और स्विंग दोनों है और उनके पास बॉलिंग स्किल्स भी हैं. वह मानसिक रूप से मजबूत हैं और अपनी क्षमताओं को भली-भांति जानते हैं.” उन्होंने अर्शदीप सिंह को भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छा संकेत बताया.

आगे बात करते हुए कामरान अकमल ने कहा,“उन्होंने रिले रूसो को बैक कैच कराया ,डिकॉक को बोल्ड किया. सबसे अच्छा एप्रोच डेविड मिलर के खिलाफ था. जब उन्होंने गेंद को बाहर निकाला और एक इनस्विंग के साथ बोल्ड किया. यहां अविश्वसनीय था. अर्शदीप ने बड़ी जबरदस्त और परिपक्वता के साथ गेंदबाजी की. उनके पास पेस है, वह अभी युवा हैं. टीम इंडिया के लिए एक अच्छा संकेत है. भारतीय टीम को एक लेफ्ट आर्म पेसर की जरूरत थी क्योंकि जहीर खान के बाद कोई नहीं आ रहा था.”