Thursday, July 25, 2024
Railway News

Train खुलने के कितने घंटे पहले कंफर्म हो जाता है आपका सीट, जानें- जरूरी अहम बातें….

Train Ticket Rules: भारतीय रेलवे देश की अलग-अलग राज्यों तक अपने नेटवर्क को फैला चुका है और लोग की सुविधा को देखते हुए लगातार इस क्षेत्र में बढ़ावा किया जा रहा है. रेलवे से सफर करने वाले यात्रियों के लिए टिकट लेने का नियम पहले बनाया गया है यानी बिना टिकट कोई भी व्यक्ति किसी भी ट्रेन से सफर नहीं कर सकता है.

लेकिन आज के समय में कंफर्म टिकट पाना बेहद मुश्किल हो गया है और जब लोग कंफर्म टिकट के लिए उतना पैसा देते हैं. तो उन्हें इतने पैसे में ही वेटिंग टिकट दे दिया जाता है और लोग इस वेटिंग टिकट के सहारे मजबूरन सफर करते हैं.

लेकिन आज हम आपको बताएंगे कि कैसे हैं आप आसानी कंफर्म सीट पा सकते हैं और अपने सफर को बेहद आसान बना सकते है. दरअसल, आज जब लोग टिकट लेते हैं तो उन्हें कंफर्म टिकट न मिलने की जगह पर वेटिंग टिकट दे दिया जाता है और वेटिंग टिकट की लंबी लिस्ट होने की वजह से उन्हें काफी समय तक इंतजार करना पड़ता है. जिसके बाद अंत में उनके हाथ ना तो कंफर्म टिकट लगता है और ना तो सीट..

इमरजेंसी कोटा आएगा काम

रेलवे द्वारा इमरजेंसी कोटा सर्विस शुरू किया गया है. जिसके तहत आपको कंफर्म सीट आसानी से उपलब्ध कराया जाता है. हालांकि, इस कोटे के तहत यात्री वीआईपी फिर इमरजेंसी कोटा लगाकर अपना टिकट कंफर्म करा सकता है. वहीं आज के समय में आमतौर वेटिंग टिकट तभी कन्फर्म होता है जब ट्रेन को छूटने से 3 से 4 घंटे का समय रह जाता है.

पहले लगता है ये चार्ट

  • ट्रेन के खुलने के 4 घंटे पहले लेकर पहले चार्ट कंफर्म सीट वालों का लगाया जाता है.
  • इसके बाद बाकी बचे हुए सीट को लेकर एक चार्ट लगाया जाता है. जिसके तहत आप आसानी से कंफर्म सीट पा सकते हैं.
  • इसके लिए आपको IRCTC की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर Chart And Vacancy के ऑप्शन पर क्लिक कर देखना होगा.
  • ध्यान रहे कि यह चार्ट फीचर तभी लगेगा जब कंफर्म टिकट का चार्ट लग जाता है.

Vivek Yadav

विवेक यादव डिजिटल मीडिया में पिछले 2 सालों से काम कर रहे हैं. thebegusarai में विवेक बतौर कंटेंट राइटर कार्यरत हैं. इससे पहले 'एमपी तेजखबर' के साथ इन्होंने अपनी पारी खेली है. विवेक ऑटो, टेक, बिजनेस, नॉलेज जैसे सेक्शन में लिखने में इनकी विशेष रुचि है. इन्होंने माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय से अपनी स्नातक की पढ़ाई की है। काम के अलावा विवेक को किताबें पढ़ना, लिखना और नई जानकारी जुटना काफी अच्छा लगता है।