बहन ने शहीद भाई की प्रतिमा की कलाई पर बांधी राखी, भर आई सबकी आंखें

डेस्क : भाई-बहन के अटूट प्रेम का पर्व रक्षाबंधन 3 अगस्त 2020 को सावन की पूर्णिमा सोमवार को पूरे देश में रक्षाबंधन का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है। रक्षाबंधन भाईयों और बहनों का त्योहार है। इस त्योहार में भाइयों के कलाई पर बहने आजीवन रक्षा की कामना करते हुए रेशम की राखियां बांधती है। भाई अपने बहन की आजीवन रक्षा का वचन देता है। हर्षोल्लास के इस पावन मौके पर बिहार के बेगूसराय मंझौल से एक ऐसी तस्वीर आयी है। जो दिलों को झकझोर कर देगी।

इस तस्वीर में एक बहन अपने शहीद भाई के प्रतिमा को राखी बांध कर रक्षाबंधन का त्योहार मना रही है। यह भावुक करने बाला तस्वीर मंझौल निवासी शहीद नित्यानंद के प्रतिमा की है। जहां नित्यानन्द की चचेरी बहन साधना कुमारी अपने प्यारे भाई नित्यानंद के प्रतिमा पर राखी बांधी। कौन है नित्यानन्द बताते चलें कि मंझौल अनुमंडल मुख्यालय के नित्यानंद चौक पर जयप्रकाश नारायण के 1974 के आंदोलन में मंझौल निवासी बालेश्वर साह के पुत्र व जयमंगला उच्च विद्यालय के आठवीं वर्ग के छात्र नित्यानंद साह की मृत्यु 16 अगस्त, 1974 को पुलिस की गोली से हो गयी थी।

Nitya-Nand-Chock

दिलों में जिंदा है भाई बहन साधना ने बताया कि वो आज जिंदा नहीं है, लेकिन वो नहीं है… यह भी मन मानने को मंजूर नहीं है। दुनिया के लिए तो वो मर गए होगें लेकिन हमारे लिए आज भी जिंदा है। जिंदा है दिलों में…जिंदा है भावनाओं में, जिंदा है एक नई राह दिखाने के लिए…एक नई राह दिखाने के लिए व ख्वाब पूरे करने के लिए। इसलिए वे शहीद की प्रतिमा की कलाई पर राखी बांधकर उन्हें याद करती हैं।