बेगूसराय में मानसून के जाते-जाते कावर में छाई हरियाली

मंझौल / बेगूसराय : बेगूसराय जिले से लगभग 22 किलोमीटर दूर अनुमंडल मुख्यालय स्थित एशिया फेम काबर झील के बीच 52 शक्तिपीठों में प्रसिद्ध मन्दिर जयमंगला गढ़ के चारों ओर लगभग 60 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है । इस झील को भारतीय राज्य बिहार के बेगूसराय जिले के मीठे पानी का उथली झील कहा जाता है । इस झील को पक्षी बिहार का दर्जा 1989 ईस्वी में प्राप्त हुआ।

यहां पर ठंड के मौसम में साइबेरिया के लाखों प्रवासी पक्षियों के साथ-साथ विदेशी पक्षियां आते हैं। लेकिन बीते कुछ वर्षों में इस झील की पानीयों में काफी कमी आने के कारण पक्षियाँ यहां आना धीरे-धीरे कम करती चली गई। विगत कुछ माह पहले काबर क्षेत्र पूरी तरह सूख गया था। मीठे पानी का झील कहा जाने वाला यह क्षेत्र लगभग शून्य पड़ गया था , लेकिन कुदरत का ऐसा करिश्मा हुआ कि जाते-जाते मानसून ने पूरे काबर क्षेत्र में हरियाली छा गयी है। जिससे इस झील पर निर्भर स्थानीय मछुआरों के चेहरे पर खुशियां छा गई ।