बिजली विभाग के द्वारा निर्दोष उपभोक्ता को फंसाने पर ग्रामीणों से डीएम से किया जांच की मांग

Bijli Gul

न्यूज डेस्क : बेगूसराय के छौड़ाही प्रखण्ड में बिजली विभाग के कनीय अभियंता खोदाबन्दपुर के विरूद्ध स्थानीय ग्रामीणों ने डीएम को आवेदन देकर मामले की निष्पक्ष जाँच पड़ताल करवाने की माँग की है।प्रखंड क्षेत्र के सिंहमा पंचायत अंतर्गत ईब्राहिमपुर गाँव में विगत दिनों बिजली विभाग के जेई ने छापेमारी की थी।जिसमें विधुत चोरी करने के आरोप में कुछ उपभोक्ताओं पर स्थानीय थाने में एफआईआर दर्ज करायी थी।

स्थानीय ग्रामीण चन्द्रशेखर सिंह,रामशंकर सिंह,बमबम कुमार एवं शिव शंकर सिंह समेत दर्जनों लोगों ने जिलाधिकारी बेगूसराय को दिये गये आवेदन में बताया है कि विधुत कनेक्शन और मीटर लगाने में जेई अवैध नजराना माँगते हैं,और अवैध नजराना नहीं देने के कारण उपभोक्ताओं को बिजली चोरी करने जैसे संगीन आरोप लगाकर एफआईआर दर्ज करवा देते हैं।ग्रामीणों ने बताया है कि हमारे ग्रामीण कुंदन कुमार पर व्यवसायिक परिसर में बिजली उपयोग करने के झुठे एफआईआर छौड़ाही ओपी में जेई ने दर्ज करा दिया है।ग्रामीणों ने उक्त युवक पर जेई द्वारा बिजली चोरी करने के आरोप में दर्ज कराये गये थाना कांड संख्या-52/2021 में अभियुक्त बनाये गये हमारे ग्रामीण कुंदन कुमार की पुरे मामले का निष्पक्ष जाँच करवाकर दोषमुक्त करने की माँग की है।

ग्रामीणों ने इसके साथ ही जेई खोदाबन्दपुर के उपभोक्ताओं के साथ दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाते हुये उपभोक्ताओं के शोषण दोहण किये जाने के मामले की भी जाँच पड़ताल कर कार्रवाई की माँग की है।ग्रामीणों द्वारा दिये गये आवेदन पर प्रखंड उपप्रमुख अनुराधा कुमारी,सिंहमा पंचायत के सरपंच दिलीप कुमार चौरसिया,मालपुर पंचायत की मुखिया मनीषा देवी,वार्ड सदस्य अनिता देवी ने भी ग्रामीणों की हस्ताक्षरित आवेदन पर अपनी सहमति जाहिर करते हुये मामले को गंभीरता पूर्वक लेते हुये डीएम बेगूसराय से जाँच पड़ताल कर विधिसम्मत कार्रवाई करने का अनुरोध किया है।आवेदन की प्रति ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक बेगूसराय,डीएसपी,पुलिस इंस्पेक्टर मंझौल एवं थानाध्यक्ष छौड़ाही ओपी को भी दिया है।

बोले बिजली जेई : जिस समय ईब्राहिमपुर में छापेमारी की गयी थी।उस वक्त मुर्गा फाँर्म में बिजली चोरी से ले जाया गया था।छापेमारी के वक्त के सभी आवश्यक फुटेज और बिजली चोरी किये जाने का साक्ष्य हमलोगों के पास उपलब्ध है।प्राप्त साक्ष्य के आधार पर स्थानीय थाने बिजली चोरी से संबंधित एफआईआर दर्ज करवाया गया।ग्रामीणों द्वारा लगाये जा रहे सभी तरह के आरोप निराधार है।

You may have missed

You cannot copy content of this page