December 7, 2022

छौड़ाही : मुखिया को गोली मारने की धमकी दिए जाने के तीन दिन बाद, नहीं हुई कार्रवाई, मुखिया संघ में आक्रोश

Mukhiya Sangh

छौड़ाही (बेगूसराय) : अमारी पंचायत के महिला मुखिया को गोली मार देने की धमकी दिए जाने के मामले में छौड़ाही पुलिस चुपचाप बैठी है। छौड़ाही ओपी क्षेत्र में अपराधियों का मनोबल काफी बढ़ गया है। जनप्रतिनिधि भी सुरक्षित नहीं है। प्रखंड प्रशासन भी कम नहीं है। आवाज सहायक रिश्वत लेते रंगे हाथ धराते हैं। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होती है। अब धरना प्रदर्शन और आंदोलन कर मुखिया संघ जिला प्रशासन से कार्रवाई की मांग करेगा।

उक्त बातें प्रखंड मुखिया संघ के अध्यक्ष सह सहुरी पंचायत के मुखिया रामसेवक पासवान शनिवार को छौड़ाही प्रखंड क्षेत्र के सावंत पंचायत कार्यालय में आयोजित मुखिया संघ के आपात बैठक को संबोधित करते हुए बोले। अमारी पंचायत के मुखिया पूनम शर्मा का कहना था कि तीन दिन पहले उन्हें फोन पर अपराधी ने कहा कि दोबारा तुम मुखिया बनी हो। तीन लाख रुपए रंगबाजी टैक्स 24 घंटे के अंदर जमा करो। अन्यथा गोली मारकर पूरे परिवार का सफाया कर देंगे। थाना में उसी समय प्राथमिकी दर्ज करवा दी गई। परंतु छौड़ाही पुलिस आज तक पूछताछ हेतु भी सक्रिय नहीं हुई है। जिससे प्रतीत होता है कि अपराधी एवं छौड़ाही पुलिस में मिलीभगत है। परोड़ा पंचायत के मुखिया संजीदा खातून का कहना था कि महिला मुखिया के के सुरक्षा के साथ पुलिस खिलवाड़ कर रही है। यह उचित नहीं है। हम सभी मुखिया डरे हुए हैं। जल्द से जल्द अपराधी गिरफ्तार हो अन्यथा धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

एकंबा मुखिया राखी रानी का कहना था कि अपराधी के भय से हम जनप्रतिनिधि घरों में दुबके हुए हैं। छौड़ाही प्रखंड कार्यालय एवं पुलिस भ्रष्टाचारियों एवं अपराधियों को बचा रही है। बीते दिनों एकंबा के आवास सहायक सोनी कुमारी एवं अमारी के आवास सहायक धीरज कुमार को रिश्वत लेते हम लोगों ने रंगे हाथ पकड़ा था। आवेदन दिया गया लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इसके अलावा विकास योजना संबंध में भी आपात बैठक में चर्चा की गई। बैठक मे सर्वसम्मति से अमारी मुखिया मामले में दर्ज प्राथमिकी में जल्द कार्रवाई हेतु धरना प्रदर्शन आंदोलन का निर्णय लिया गया।

बैठक में प्रखंड मुखिया संघ के अध्यक्ष रामसेवक पासवान, एकंबा मुखिया राखी रानी, परोड़ा मुखिया संजीदा खातून, मुखिया पंकज दास, नारायणपीपड़ मुखिया शिव देवी, सावंत मुखिया काजल कुमारी, अमारी मुखिया पूनम शर्मा, सिहमा मुखिया रामप्रीत ठाकुर, डाक्टर निगम कुमार, शेख फूल हसन, उमेश शर्मा, संजय पासवान समेत दर्जनों जनप्रतिनिधि मौजूद थे।