छौड़ाही प्रखंड कार्यालय के सभागार में मंगलवार को पंचायत समिति की हुई बैठक अन्य जनप्रतिनिधि हुए मौजूद

Panchayat Samiti

छौड़ाही (बेगूसराय): प्रमुख महोदय, बीडीओ साहिब छौड़ाही प्रखंड क्षेत्र में बिजली विभाग की स्थिति एकदम दयनीय है। हजारों लोगों का जान बिजली विभाग खतरे में डाल दिया है। तार गिरने बाद बिजली प्रवाहित होती रहती है। विभाग के जेई एवं एसडीओ साहब आम आदमी का तो छोड़िए जनप्रतिनिधियों तक का फोन रिसीव नहीं करते हैं। इस पर कार्रवाई की जाए। प्रखंड कार्यालय मे रोज 500 से 1000 आदमी आते हैं।

लेकिन उन्हें पीने के लिए पानी एवं शौचालय की सुविधा नहीं मिलता है। लेकिन सौंदर्यीकरण के नाम पर 30 लाख का एस्टीमेट बना अधिकारी राशि का दुरुपयोग करने पर तुले हैं। उक्त खरी खरी बातें छौड़ाही प्रखंड कार्यालय के सभागार में मंगलवार को पंचायत समिति की आयोजित सामान्य बैठक मे विभिन्न विभागों द्वारा अनियमितता बरतने ,जनप्रतिनिधियों का फोन नहीं उठाने से आक्रोशित सदस्य अधिकारियों को सुना रहे थे।

बैठक में जिला परिषद सदस्य पुष्पा देवी ने पशु अस्पताल भोजा एवं रामपुर कचहरी का भवन जर्जर रहने एवं दवा,चिकित्सक उपलब्ध नहीं रहने का मुद्दा उठाया।पशुपालन पदाधिकारी डाक्टर ओमप्रकाश सिंह ने अस्पताल की मरम्मत करा सभी व्यवस्था दुरुस्त करवाने का आश्वासन दिया। मुखिया रामप्रीत ठाकुर, मनीषा देवी, रामसेवक पासवान, पंकज दास,जिला पार्षद पुष्पा देवी ने प्रखंड क्षेत्र के सात पंचायत के 30 हजार एकड़ जमीन में जलजमाव रहने से खेती नहीं होने एवं 10 हजार किसान और 20 हजार मजदूर परिवार के समक्ष भुखमरी की समस्या होने का मुद्दा उठाया।

सदस्यों ने स्वास्थ्य उप केंद्र भोजा समेत प्रखंड के एक दर्जन से ज्यादा स्वास्थ्य केंद्र एवं एपीएचसी लखनपट्टी का भवन जर्जर रहने एवं चिकित्सक एएनएम के बराबर गायब रहने से मरीज पर खतरा रहने का मुद्दा उठाया।बैठक में मनरेगा एवं प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में व्यापक स्तर पर हुए धांधली का मुद्दा प्रमुखता से छाया रहा। सदस्यों ने विगत दिनों आवास निर्माण प्रारंभ नही करने वाले लाभार्थी को भी 90 दिन तक का मजदूरी भुगतान करने, नाबालिगों को आवास योजना का लाभ देने संबंधित अखबार, इंटरनेट चैनल, यूट्यूब पर प्रकाशित खबर की चर्चा करते हुए मनरेगा एवं आवास विभाग के कर्मियों से स्पष्टीकरण की मांग की।

ये भी पढ़ें   वाहन चैकिंग दौरान छौड़ाही पुलिस का अवैध वसूली को लेकर शोशल मिडिया पर हुआ वायरल

मनरेगा जेई का कहना था कि आवास सहायक और बीडीओ द्वारा दिए गए प्रतिवेदन पर हम लोग मजदूरी भुगतान लाभार्थी के खाते में कर देते हैं। जांच का जिम्मा आवास कर्मियों की है।सदस्यों ने हाईस्कूल छौड़ाही के खेल मैदान को हाट के नाम पर बंदोबस्त कर हेडमास्टर द्वारा राजस्व वसूली करने पर सवाल उठाया।सदस्यों का कहना था कि हाई स्कूल छौड़ाही का खेल मैदान प्रखंड का इकलौता मैदान है। जहां पूर्व से ही विभिन्न खेल प्रतियोगिता होती थी।हाई स्कूल छौड़ाही के हेड मास्टर एवं पंचायत के राजस्व कर्मचारी ने मिलीभगत कर उक्त खेल मैदान को लाभ लोभ के चक्कर में व्यवसायिक प्रयोजन हेतु के हाट लगने के नाम पर गलत प्रतिवेदक अधिकारी को दे बंदोबस्त करवा दिया है।मुख्यमंत्री, डीएम, कमिश्नर एसडीएम मंझौल को भी आवेदन दिया गया है।

प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने मामले की जांच कर वास्तविक वस्तुस्थिति से वरीय अधिकारी को अवगत कराने का आश्वासन दिया।एकंबा पंचायत की मुखिया राखी रानी ने एकंबा आवास सहायक सोनी कुमारी एवं धीरज कुमार द्वारा लाभार्थियों से घूस की रकम लेने, विभिन्न यूट्यूब चैनल एवं समाचार पत्रों में छपी खबर एवं शिकायत के बावजूद कार्रवाई अभी तक नहीं करने पर सवाल उठाया।

तुरंत निलंबित करने की मांग की। एकंबा में वर्ष 2018-19 में 10 लाख रुपए की लागत से पंचायत में पीसीसी सड़क की स्वीकृति मिलने के बाद भी अब तक काम नहीं होने का मामला उठाया। इसके अलावा मनरेगा योजना में कार्य किए कामगारों का भुगतान नहीं होने, विद्यालयों में शिक्षक की कमी, मध्यान भोजन गुणवत्तापूर्ण नहीं होने, पंचायत प्रतिनिधियों के ट्रेनिंग में घटिया भोजन देने, सीडीपीओ, आपूर्ति पदाधिकारी समेत बैठक से अनुपस्थित सभी पदाधिकारियों से स्पष्टीकरण पूछे जाने का प्रस्ताव भी पास किया गया।

ये भी पढ़ें   वाहन चैकिंग दौरान छौड़ाही पुलिस का अवैध वसूली को लेकर शोशल मिडिया पर हुआ वायरल

बैठक की अध्यक्षता प्रखंड प्रमुख सतीश कुमार कुशवाहा एवं संचालन बीडीओ रवि कुमारी ने की। इस अवसर पर राजस्व अधिकारी पुजा शर्मा,बीएओ पारसनाथ काजी, पीएचसी प्रभारी डाक्टर कमलेश कुमार, बीईओ दानी राय, खाद्य उपभोक्ता पदाधिकारी टिपू सुल्तान, जिला पार्षद पुष्पा देवी, मुखिया राखी रानी,काजल कुमारी, पूनम शर्मा, मनीषा देवी, पंकज दास, रामसेवक पासवान, रामप्रीत ठाकुर, संजीदा खातुन, पंचायत समिति सदस्य महेश्वर सहनी आदि अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।