बाजीतपुर में फिर सुलग रहा भूमि विवाद, मुआवजा जमा कर फसल काटेंगे किसान

Land

छौड़ाही (बेगूसराय) : बेगूसराय के छौड़ाही अंचल क्षेत्र के सहुरी पंचायत अंतर्गत बाजितपुर गांव में सन 1978 से चला आ रहा भूमि विवाद फिर सुलगने की स्थिति में सीपीएम और सीपीआई दोनों पक्ष के बीच रवि फसल काटने को लेकर तूल पकड़ लिया। किंतु इसकी जानकारी एसडीएम मंझौल मुकेश कुमार को मिली तो तत्परता दिखाते उन्होंने शनिवार को उत्क्रमित मध्य विद्यालय बाजीतपुर परिसर में दोनों पक्षों को बुलाकर विस्तार से बातचीत किया।

वैसे तो कुछ देर दोनों पक्षों से विवादित बयान निकल रहे थे किंतु एसडीएम और मंझौल डीएसपी सत्येंद्र कुमार के द्वारा मामले को तरीके से सुलझाने का सुझाव देने के बाद शांत हुआ। जानकारी देते एसडीएम ने बताया कि खेसरा नंबर 906 से लेकर तमाम विवादित भूमि में गेहूं या अन्य फसल लगा है वह 4 से 5 दिन के अंदर दोनों पक्ष अंचल कार्यालय द्वारा तय किया गया मुआवजा जमा करने के बाद अपना फसल काट लेंगे। जब तक हम प्रशासन की ओर से विवादित भूमि का नापी जोकि नहीं हो जाता तब तक कोई भी पक्ष जोत आवाद नहीं करेगा। क्योंकि परेशानी होगी हमारे जिला में अमीन की बहुत ही किल्लत है हम लोग प्रयास में हैं कि यह वर्षों से चला आ रहा भूमि विवाद किसी तरह समाप्त हो जाए और सभी आपस में भाईचारा का संबंध बनाकर अपने बीवी बच्चों के साथ शांति से रहे।

उन्होंने कहा कि सख्त निर्देश दिया गया है यदि इस बीच में कोई भी पक्ष विवाद फैलाने या कोई अन्य हरकत करने की कोशिश करता है तो उस पर सख्त कानून कार्रवाई की जाएगी। मौके पर अंचलाधिकारी सुबोध कुमार प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रशांत कुमार सर्किल इंस्पेक्टर सुरेंद्र कुमार राजस्व कर्मचारी रजनीश कुमार थानाध्यक्ष राघवेंद्र कुमार खोदावंदपुर थाना अध्यक्ष दिनेश कुमार एवं छौराही एएसआई एके ओझा समेत बड़ी संख्या में सशस्त्र बल एवं सीपीएम के रामसेवक दास चंदन दास गौरी दास सीपीआई के लक्ष्मी यादव रमेश यादव जगजीवन राम राजेंद्र राम धनेश्वर यादव विष्णु देव यादव समित सैकड़ों की संख्या में महिला पुरुष ग्रामीण उपस्थित थे।

You may have missed

You cannot copy content of this page