छौड़ाही में रातभर गुल रही बिजली , उमस भरी गर्मी में रतजगा कर रहे उपभोक्ताओं में भारी आक्रोश

Chorahi

न्यूज डेस्क : इसे बिजली विभाग के अधिकारियों की लापरवाही कहें अथवा मनमानी। जिले के छौड़ाही प्रखंड मुख्यालय बाजार सहित आसपास के कई क्षेत्रों में रात को बिजली गुल हो जाती है।यूँ कहें कि बिजली रानी गयी तो फिर कबतक आगमन होगा यह कहना मुशकिल हो जाता है।उमस भरी गर्मी में आम उपभोक्ताओं के साथ इस तरह से व्यवहार होना कहीं ना कही विभागीय अधिकारियों के गैर जिम्मेदाराना आदत को सपष्ट परिलक्षित करता है। परिणाम है कि सोने की अवस्था में जब लोग बेड पर गये होते हैं,तो बिजली गुल हो जाती और पावर हाउस लेकर स्थानीय विभागीय अधिकारी उपभोक्ताओं के फोन काँल करने पर या तो जानबूझकर फोन को व्यस्त कर छोड़ देते हैं,अथवा काँल रिसिव नहीं करते हैं।परिणाम है कि उपभोक्ताओं में भारी आक्रोश देखा जा रहा है।

गुरूवार की ग्यारह बजे रात को गायब हुयी बिजली का पुरी रात दर्शन नहीं हो पाया,और उपभोक्ताओं को घर से बाहर निकलकर सड़क पर उमस भरी गर्मी में भटकते देखा गया।पुरी रात उपभोक्ताओं ने रतजगा कर समय बिताया,लेकिन बिजली गुल होने और कब तक बिजली आयेगी इसकी सुचना के लिये उपभोक्ता परेशान होते रहे,तथा विभागीय मिस्त्री पावर हाउस के बिजली कर्मी से लेकर जेई तक फोन रिसिव करने की जहमत नहीं उठा पा रहे थे।ऐसे लापवाह अधिकारियों पर आमलोगों का गुस्सा इस कदर है कि अगर यही स्थिति रही तो एक दिन बिजली विभाग के खिलाफ पनप रहे आक्रोश रौद्ररूप ले लेगा,और फिर इसका खामियाजा विभागीय अधिकारियों के भुगतने के किसी भी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।बताया जाता है कि छौड़ाही बिजली पावर हाउस से छौड़ाही शहरी क्षेत्र के लिये आपूर्ति किये जाने वाले फीडर से राजोपुर,बेंगा,बखड्डा,परोड़ा सहित अन्य मोहल्ले में बिजली सप्लाई की जाती है।

इस मामले को लेकर सांवत पंचायत की मुखिया रिंकु कुमारी भी डीएम बेगूसराय को पत्र भेजकर बिजली विभाग के अधिकारियों की मनमानी से अवगत करा चुँकि है।बावजूद इसके विभागीय अधिकारी तनिक भी मामले को संज्ञान में नहीं ले रहें हैं।स्थानीय उपभोक्ता समाजिक कार्यकर्ता प्रणव कुमार,बिजली उपभोक्ता नटवर लाल,बबलु कुमार,शंभु कुमार महतो,रमेश कुमार साहु समेत दर्जनों लोगों ने बताया कि छौड़ाही को अमारी ग्रामीण फीडर से जोड़कर बिजली आपूर्ति की जाती है,और छौड़ाही शहरी फीडर से उक्त मोहल्ले में बिजली आपूर्ति की जाती है।जो छौड़ाही बाजार के उपभोक्ताओं के साथ अन्याय है।विदित हो कि छौड़ाही बाजार में युको बैंक,दुरभाष केन्द्र, प्रखंड अंचल राजस्व विभाग मनरेगा पीएचसी ओपी थाना सहित सभी कार्यालय अवस्थित है।प्रखंड कार्यालय स्थित सरकारी आवास में अधिकारी और कर्मचारी रहते हैं।बावजूद इसके बिजली विभाग के अधिकारियों और कर्मियों की इतनी बड़ी लापरवाही और हिम्मत स्थानीय प्रशासन के लिये बड़ी चुनौती है।

स्थानीय लोगों जिलाधिकारी बेगूसराय से छौड़ाही बाजार के बिजली फीडर से आपूर्ति बहाल करवाने की माँग की है।इनलोगों ने कहा कि अगर विभागीय अधिकारियों ने इसके बाद भी नहीं चेते तो उपभोक्ता आक्रोशपूर्ण आन्दोलन करने को बाध्य होगी।जेई ने नहीं किया काँल रिसिव।बिजली की आपूर्ति को लेकर बार बार आ रही समस्याओं के संबंध में जब कनीय अभियंता ललन कुमार से स्थिति और वास्तविकता से अवगत होने के लिये काँल किया गया तो उन्होंने काँल रिसिव करना मुनासिब नहीं समझा। कहते हैं बीडीओ बिजली आपूर्ति में आ रही परेशानियों के कारण दिन में भी कार्यालय में काम करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।प्रखंड कैंपस में बने सरकारी आवास में रहनेवाले अधिकारियों और कर्मचारियों को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

हेडक्वार्टर फीडर से छेड़छाड़ कर अन्यत्र बिजली आपूर्ति करना बिल्कुल ही गलत बात है।इसकी जानकारी विभाग के वरीय पदाधिकारियों को दिये जाने के साथ ही जाँच कराकर इस तरह से अनैतिक कार्य करनेवाले कर्मियों पर कार्रवाई की जायेगी।स्थानीय विभागीय पदाधिकारी अगर उपभोक्ताओं का काँल नहीं उठाते हैंं,तो यह भी गलत है।पभोक्ताओं को वास्तविक स्थिति की जानकारी देना कर्तव्य है.मामले में समुचित कार्रवाई हो।

You may have missed

You cannot copy content of this page