11 हजार वोल्ट बिजली प्रवाहित तार के संपर्क में आने से चार प्राइवेट बिजली मिस्त्री घायल, एक की स्थिति गंभीर

छौड़़ाही (बेगूसराय): बिजली विभाग के खोदाबंदपुर विद्युत उपकेन्द्र के लाइनमैन की लापरवाही के कारण अधिकतर समय इलाके में बिजली कटी रहती है। अब ताजा घटनाक्रम में बिना लाइट काटे 11000 वोल्ट विद्युत प्रभाव प्रवाहित पोल पर चार प्राइवेट मिस्त्री को चढ़ा देना से सभी गंभीर रूप से घायल हो अस्पताल में जीवन और मौत से जूझ रहे हैं।

दरअसल गुरुवार सुबह से खोदाबंदपुर विद्युत उप केंद्र से जुड़े खोदाबंदपुर एवं छौड़ाही प्रखंड की विद्युत आपूर्ति बाधित थी । रात 10:00 बजे के लगभग विद्युत केंद्र के लाइनमैन मोहम्मद जहांगीर चार प्राइवेट मिस्त्री को फॉल्ट ठीक करने के लिए छौड़ाही प्रखंड के बरदाहा गांव स्थित पैक्स गोदाम के पीछे गाछी के नजदीक 11000 विद्युत पोल के पास भेज दिया। बिजली मिस्त्री छौड़़ाही प्रखंड के बखड्डा निवासी जीबछ कुमार पासवान और मनोज यादव, सावंत निवासी मोहम्मद सुफियान एक अन्य मिस्त्री के साथ जब उक्त स्थल पर कमर भर जलजमाव को पार करते हुए पहुंचे तो वहां लाइनमैन मौजूद नहीं थे। मोबाइल पर संपर्क कर लाइनमैन ने कहा कि लाइन काट दिए हैं पोल पर चढ़के फॉल्ट को ठीक करो।

घायल बिजली मिस्त्री कई घण्टे बेहोश रहे सभी मिस्त्री फाल्ट ठीक करने के लिए जब तार को हाथ लगाया उसी समय 11000 भोल्ट का बिजली का जोरदार झटका मिस्त्री को लगा । जिससे सभी मिस्त्री पोल के नीचे गिर गंभीर रूप से घायल हो गए। देर रात बीच बहियार में कमर भर पानी में हादसा के बाद सभी घंटों बेहोश रहे। जो कम घायल थे उन्हें होश आया तो वह आबादी में पहुंच मदद की गुहार लगाई।स्थानीय ग्रामीणों ने सभी बिजली मिस्त्री को उठा प्राथमिक चिकित्सा करा बेहतर इलाज के लिए बेगूसराय के प्राइवेट नर्सिंग होम में भर्ती करवाया। जहां बिजली मिस्त्री जीबछ कुमार पासवान कि स्थिति गंभीर बताई जा रही है। इस संदर्भ में बिजली विभाग के जेई एवं लाइनमैन से उनका पक्ष जानने हेतु कई बार उनके मोबाइल पर घंटी बजाई गई। लेकिन उन्होंने मोबाइल रिसीव करना मुनासिब नहीं समझा।