बेगूसराय जिले भर में फसलों का मुआवजा दिलवाने को लेकर चक्का जाम, जेल भरो और आत्मदाह का एलान

Kishan

छौड़ाही (बेगूसराय) : बेगूसराय जिले भर में बारिश के कारण फसलों की व्यापक तबाही हुई है। अखबारों न्यूज़ चैनलों पर लगातार खबर चलने के बाद भी अफसर खेत तक जाने को तैयार नहीं हैं। किसान त्राहिमाम कर रहे हैं। अब, किसानों को मुआवजा मिलने में रोड़े अटका रही अफसरशाही के विरोध में भाजपा किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष रामकुमार वर्मा ने आंदोलन का शंखनाद कर दिया है। 09 अक्टूबर 2020 तक किसानों को मुआवजा नहीं मिलने और जिम्मेदार अफसरों पर कारवाई नहीं होने पर डीएम कार्यालय में आत्मदाह कर लेने का अल्टीमेटम दे सनसनी फैला दी है।

इस संदर्भ में भाजपा किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष रामकुमार वर्मा द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि जिलेभर में सोयाबीन पपीता मेंथा सब्जी की खेती शत प्रतिशत बारिश से बर्बाद हो गई है। गन्ना और धान 70 प्रतिशत बर्बाद हो गया है। खेत में पांच फीट पानी में लगे बचे धान को काटकर घर लाना भी संभव नहीं है। वहीं जलजमाव के कारण आगामी रबी फसल भी नहीं हो पाएगा। कहा, जिले भर में इतने व्यापक स्तर पर फसलों की बर्बादी हुई है। एकंबा के किसान के 25 एकड़ सोयाबीन फसल में पांच फीट जलजमाव है। लेकिन जिले के कृषि विभाग के अफसर नुकसान मानने को तैयार नहीं है।

ना ही खेत में आकर फसल का आकलन कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि कृषि पदाधिकारी दो दिन में किसानों को क्षतिपूर्ति हेतु आवेदन करने के लिए कह रहे हैं। प्रखंड कृषि पदाधिकारी कह रहे हैं कि अब आवेदन लेना संभव नहीं है। अफसर किसानों को ठगने का काम कर रहे हैं। बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों के आमदनी को दोगुना करने के लिए जी जान से मेहनत की जा रही है। लेकिन जिले में भ्रष्टाचार एवं अफसरशाही के कारण किसानों तक योजना पहुंच ही नहीं पा रही है। जिससे किसानों में काफी आक्रोश होने के साथ-साथ हम लोगों की भी काफी बदनामी हो रही है।

उन्होंने डीएम बेगूसराय से सात अक्टूबर तक जिले भर के बर्बाद फसलों का आकलन करा किसानों को वाजिब क्षतिपूर्ति देने, फसल आकलन का वीडियो ग्राफी कराने, कृषि पर आश्रित मजदूरों को मुआवजा देने की मांग की है। जिला अध्यक्ष रामकुमार वर्मा ने जारी बयान में जिला प्रशासन को अल्टीमेटम दिया है कि सात अक्टूबर तक मांग पूरी नहीं होने पर आठ अक्टूबर को जिले भर में चक्का जाम किया जाएगा। नौ अक्टूबर को किसान जेल भरो अभियान करेंगे वहीं 10 अक्टूबर 2020 को डीएम कार्यालय बेगूसराय में आत्मदाह कर लेंगे।

You cannot copy content of this page