Friday, July 12, 2024
Lifestyle

शादी की पहली रात को सुहागरात क्यों कहा जाता है?? ये है कारण-

Marriage First Night : शादी में कई सारी रस्में होती है। और शादी के कई दिनों बाद तक चलती है। लेकिन क्या आपको पता है कि शादी के बाद वाली रात को सुहागरात क्यों कहते हैं। आज आपको बताते हैं इसके पीछे का राज- सुहागरात शब्द का अर्थ है “सुख और आनंद की रात”. शादी के बाद लड़की को सुहागन हो जाने से यह प्रतीत होता है कि वह एक सुखी और समृद्ध विवाहित जीवन की शुरुआत कर रही हैं। इसलिए, विवाह की पहली रात को सुहागरात कहा जाता है।

सुहागरात, जो शादी के बाद की पहली रात होती है, एक ख़ास अवसर है जहां नवविवाहित जोड़ा एक-दूसरे के साथ आपसी संवाद करता है और पहचानने की कोशिश करता है। सुहागरात पर कुछ बातों का ख़ास ध्यान रखना चाहिए।

इस दौरान दो अजनबी पति-पत्नी को एक-दूसरे के बारे में पूरी जानकारी पूछनी नहीं चाहिए। इस रात को उन्हें अपने अतीत के बारे में भी बात नहीं करनी चाहिए और अपने पास्ट की बातें नहीं शेयर करना चाहिए। इसके साथ ही अपने परिवार के बारे में भी बात नहीं करनी चाहिए। इसके अलावा इस रात में वे शारीरिक संबंध बनाने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए।

शादी की पहली रात पर दोनों को किसी की बुराई नहीं करनी चाहिए और एक-दूसरे की गलतियां बिल्कुल नहीं बतानी चाहिए। इससे आपका पार्टनर उदास हो सकता है और यह रिश्ते में तनाव भी पैदा कर सकता है। इस दिन आप दोनों को सिर्फ प्यारी बातें करनी चाहिए और एक-दूसरे की बातें ध्यान से सुनना चाहिए, ताकि आप दोनों आपस में सहज महसूस करें।