जानें ज्योतिषाचार्य से इस धनतेरस में अपने राशिफल के अनुसार क्या खरीदना हितकारी होगा

डेस्क : वैसे तो कलियुग में धन की स्थिरता के संदर्भ में कहा गया है कि ये लक्ष्मी स्वरूपा चंचला है अर्थात धन की स्थिरता निश्चित नही है अतः जब भी मानवके पास धन हो उसका उपभोग करना चाहिए। शास्त्रो में बस्तुओं के क्र य विक्रय के संदर्भ में कुछ विशेष मुहूर्त का विचार किया गया है,जिस मुहूर्त में खरीद विक्री करना लाभकारी होता है।वैसे विष्टि मुहूर्त में से एक मुहूर्त है धन त्रयोदशी जिसे लोग व्यवहार में धनतेरस भी कहते है। ब्रह्मबेवर्त पुराण के अनुसार कार्तिक मास के त्रयोदशी तिथि को स्वयं भगवान विष्णु के अंश सेआयुर्वेद के देवता धवन्तरि जी अवतरित हुए।भगवान विष्णु की प्रिया लक्ष्मी जी केभाई के अवतरण दिवश के लिए यह धनतेरस लक्ष्मी जी को बहुत प्रिय है इसलिए इस त्रयोदशी को धन संग्रह बस्तुओं को खरीदना शुभ माना गया है।

क्या खरीदे ज्योतिषाचार्य अविनाश शास्त्री के अनुसार धनतेरस के खरीदारी के संदर्भ में ज्योतिषीय परामर्श आवश्यक है जिससे हमारे सुख समृद्धि की वृद्धि होगी।अलग अलग राशियों के व्यक्तियों की राशि और उनके स्वामी अलग अलग है इसलिए उनको अलग अलग प्रकार के धातु रत्न और बस्तुओं का क्रय करने चाहिए। इस वर्ष द्वादशी युक्त त्रयोदशी तिथि 12 नवम्बर को है। ग्रह स्थिति के अनुसार सोना खरीदना सभी राशियों के लोगों के लिए उत्तम रहेगा।

  1. चन्द्रमा कन्या राशि मे गोचर करेंगे अतः हरे रंग बस्तुओं का क्रय करना भी उत्तम होगा।
  2. मेष और वृश्चिक राशि वाले के लिए तांबे का पात्र
  3. वृष और तुलाराशि को लोग हीरा,चमकीला रत्न,आभूषण,प्लेटिनम का आभूषण,स्टील के वर्तन
  4. मिथुन कन्या राशि के लोग पीतल अनाज,बॉण्ड, निवेश,करना लाभकारी होगा
  5. कर्क राशि वाले लोगो के लिए चांदी का वर्तन,चांदी का आभूषण, मोती का माला आभूषण खरीदना शुभ है
  6. सिंह राशि के जातक सोना,लालरत्न के बने आभूषण,तांबा का वर्तन अवश्य खरीदे
  7. धनु और मीन राशि के लोग सोना,पुखराज,धर्मिक पुस्तक,पीतल के बर्तन अवश्य घर लावे
  8. कुम्भ और मकर राशि के लोग स्टील का वर्तन खरीदे,लोहे का सामान भी खरीद सकते है

धनतेरस को खरीदे गए धातु वर्तन रत्न को लक्ष्मी पूजा के दिन पूजा करना चाहिए और माता लक्ष्मी से समृद्धि की कामना करना चाहिए।

ज्योतिषाचार्य
आचार्य अविनाश शास्त्री