ट्रेन में यात्रा करने से पहले ध्यान रखें टिकट से जुड़ी ये बात, पालन नहीं किया तो हो सकती है जेल – कम लोगों को है जानकारी

Train Ticket

डेस्क : देश की एक बड़ी आबादी ट्रेन से सफर करती है। ऐसे में यदि आप भी ट्रेन से सफर करना पसंद करते हैं तो कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखें। आज हम आपके लिए तमाम जानकारियों के बीच से एक ऐसी अहम जानकारी लेकर आए हैं, जिसको जानकर आपको काफी राहत मिलेगी। कई बार ऐसा होता है जब हमको दूसरे के टिकट पर रेल यात्रा करनी पड़ती है। इस तरह की यात्रा करना दंडनीय अपराध है।

यह जानकारी रेलवे की तरफ से समय-समय पर दी जाती है। जब भी आप ट्रेन में बैठे तो पहले नियमों को अच्छे से पढ़ लें, अन्यथा आपको यात्रा के दौरान लेने के देने पड़ सकते हैं। यदि आप उपर्युक्त बताई गई गलती करते हैं तो आपको इसके लिए जुर्माना ही नहीं बल्कि जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है। रेलवे मंत्रालय ने अपने ट्विटर हैंडल से यह जानकारी साझा कर कहा है की “कृपया अपने टिकट पर ही यात्रा करें- दूसरे के टिकट पर यात्रा करना दंडनीय अपराध है”

यदि आप अपने ही किसी घर वाले की टिकट पर यात्रा कर रहे हैं तो, ऐसा करना संभव है लेकिन कुछ शर्तों पर। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि जिस व्यक्ति की टिकट से आप सफर कर रहे हैं उससे आपका खून का रिश्ता होना चाहिए। वह व्यक्ति आपके मां-बाप या फिर बहन-भाई हो सकते हैं। यह बात जितनी सुनने में आसान लगती है उतनी है नहीं। क्योंकि, इसके लिए आपको अलग से प्रोसेस फॉलो करना पड़ता है। सबसे पहले आपको टिकट पर अपना नाम बदलना होगा। नाम बदलवाने के लिए परिवार का कोई व्यक्ति ही यह कार्य करे तो ज्यादा बेहतर होगा।

यहां पर ध्यान देने वाली बात यह है की यात्रा करते वक्त यदि स्त्री के नाम की टिकट है तो स्त्री ही सफर कर सकती है। वहीं दूसरी तरफ पुरुष के नाम पर टिकट है, तो पुरुष ही सफर कर सकता है। यदि आप नाम बदलवाने चाहते हैं तो उसके लिए आपको चीफ रिजर्वेशन अफसर से मिलना होगा, जो रिजर्वेशन काउंटर पर बैठता है। इस अवसर की जिम्मेदारी होती है कि वह आपके नाम पर टिकट जारी करे। अब आप यह टिकट लेकर ट्रेन में आराम से यात्रा कर सकते हैं। आपको अपने जरूरी दस्तावेज जैसे आधार कार्ड और ट्रेन की पुरानी टिकट अपने पास रखनी होगी।

You may have missed

You cannot copy content of this page